दिल्ली से सौतेला व्यवहार कर रही है मोदी सरकार : केजीरवाल



देश की राजधानी दिल्ली में इन दिनों बिजली संकट समस्या उतपन्न हो गई है राजधानी वासियों को गर्मी में बिना बिजली के जीना पड़ रहा है। दिन हो रात राजधानी में घंटो बिजली गायब रहती है और कम्प्लेन करने पर तकीनीक समस्या बता दिया जाता है। जबकि कभी-कभी तो कम्प्लेन कॉल सेंटर वाले फोन भी पिक नहीं करते है। delhi power cut problem continue 

आंकड़ों के अनूसार देश की राजधानी में इस वर्ष सबसे अधिक बिजली की कटौती हुई है जंहा पिछले वर्षों में राजधानी दिल्ली में बिजली की अधिक खपत हुई है वही इस वर्ष मांग के बाबजूद बिजली में कटौती की जा रही है। इस वर्ष तकनिकी कारणों से 800 मेगावाट से अधिक की बिजली कटौती हुई है।

इसी मद्देनजर दिल्ली के बिजली मंत्री सत्येंद्र जैन ने रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अम्बानी को पत्र लिखकर सुचना दी है कि देश की राजधानी में बिजली की दिन व दिन बदतर होती जा रही है और ऐसे में रिलायंस ग्रुप जो राजधानी में सबसे बड़ी बिजली सेवा प्रदान करने वाली कम्पनी है को अपनी व्यवस्था को दुरस्त करना चाहिए ताकि राजधानी में बिजली संकट समाप्त हो। इसके लिए सतेंद्र जैन ने अनिल अम्बानी से अगले हफ्ते होने वाले मीटिंग में उपस्थित रहने की बात भी की है। delhi power cut problem continue 

आप की सरकार ने बीएसईएस पर आरोप मढ़ते हुए कहा की राजधानी में बीएसईएस मनमाने ढंग से बिजली सेवा दे रही है। इस संस्था पर अनिमितता और भ्रष्टाचार जैसे भी आरोप लगे है। बीएसईएस अपने उपेक्षाओं पर खरी नहीं उतरी है। delhi power cut problem continue

केजीरवाल के झूठे वादे का ही परिणाम है जो आज दिल्ली वासी को बिजली संकट से गुजरना पड़ रहा है। केजरीवाल सरकार ने दिल्ली वासी को झूठे वादे देकर सत्ता हथिया लेने के बाद ये जिम्मेदारी बिजली कम्पनी पर थोप दी है कि बिजली रहे न रहे आपकी कम्पनी झेलें । delhi power cut problem continue

दिल्ली में फिर से होगा विधान सभा चुनाव

केजरीवाल सरकार ने जंहा मनमाने ढंग से बिजली आधी और माफ़ कर दी है। वही हाई कोर्ट की फटकार के बाद प्रदूषण को रोकने के लिए राजघाट और बदरपुर विद्दुत ताप घर को बंद कर दिया। जिस कारण आजकल राजधानी में बिजली संकट है।राजधानी में बिजली और पानी की एक जैसी समस्या है न राजधानी में बिजली है और न ही पानी है। ऐसे में केजरीवाल के बड़बोलेपन का खामियाजा दिल्ली की जनता को भुगतना पड़ रहा है। delhi power cut problem continue 

न राजधानी में बिजली है और न ही पानी है delhi power cut problem continue 

यदि आपको ज्ञात हो तो आपको बता दें राजधानी में बिजली संकट को देखते हुए केजरीवाल ने दिल्ली में बिजली कम्पनी पर बिजली न देने पर प्रति घंटे 100 रूपये जुर्माना लगाने की बात की थी किन्तु आज भी बिजली की वही स्थिति है क्योंकि बिजली सेवा प्रदान करने वाली कम्पनी खुद बिल के लोड शेडिंग से गुजर रही है। delhi power cut problem continue 



Web Statistics