मरने के बाद पंचायत पंहुचा भूत




अपने देश में एक से बढ़कर एक आशचर्यजनक घटना घटती रहती है और ऎसी घटनाएं खासकर उन राज्यों में ज्यादा घट रही है जहां पर बीजेपी की सरकार नहीं है। मैं कोई बीजेपी का यहां समर्थन नहीं कर रहा हूँ। जो वास्तविक तथ्य है उससे आपको अवगत करवा रहा हूँ। अभी जंतर -मंतर पर विख्यात अभिनेता नाना पाटेकर का रसोईया संतोष कुमार 2012 से धरने पर स्वयं को ज़िंदा साबित करने में लगे हुए हैं। ghost reached panchayat 

कोर्ट कचहरी, विधायक मंत्री सबका चक़्कर काट -काट कर थक चूका लेकिन एक जिन्दा आदमी स्वयं को ये सावित करने में असफल है की में जीवित हूँ। जबकि तीन बहनों का इकलौता भाई होने के कारण बहनों ने भी कोर्ट में इस बात की गवाही जाकर दिया की ये मेरा भाई है और जिन्दा है। ये वाकया उत्तरप्रदेश राज्य का है। संतोष ने बताया ऐसा कोई वो अकेला आदमी नहीं है ऐसे पचास हजार लोग पुरे प्रदेश में हैं जो की जिन्दा है लेकिन उसे मृत घोषित करके उनके सम्पत्ति का उपभोग दूसरे लोग कर रहे है। ghost reached panchayat 

यहां एक मृत आत्मा सचमुच का चुनाव लड़ती है ghost reached panchayat 

ये तो बात हुई ज़िंदा आदमी की जिसे मुर्दा घोषित किया गया है। कहते हैं की नाना पाटेकर एक फिल्म बनाने वाले हैं में जिन्दा हूँ। अब मैं आपको महानायक अमिताभ बच्च्न अभिनीत फिल्म भूतनाथ की रियल स्टोरी बताने जा रहा हूँ। जिसमें एक भुत अपना कमाल दिखाता है। यहां एक मृत आत्मा सचमुच का चुनाव लड़ती है और चुनाव जीत भी जाती है। ghost reached panchayat 

तलाक….तलाक ….तलाक

जी हाँ ये मामला बिहार राज्य के सीतामढ़ी जिले रुन्निसद्पुर प्रखंड के टिकौली पंचायत के पंचायत समिति पद के सदस्य की है । जी हाँ आज से नौ साल पहले की घटना है मिथिलेश नामक एक महिला की हत्त्या की गई थी। जिसमे उसके पति सिकंदर मुखिया को अभियुक्त बनाया गया था। पहली पत्नी के हत्या के बाद सिकंदर ने गुड़िया नामक लड़की से विवाह किया। ghost reached panchayat  

अब नौ साल बाद जब चुनाव आया तो सिकंदर ने गुड़िया को मिथिलेश बनाकर चुनाव जीत लिया। परिणाम वही टॉपर वाला हो गया। अगर गुड़िया चुनाव हार जाती तो कोर्ट में सिकंदर को लाभ मिल जाता लेकिन मामला तो चुनाव जीतने से बढ़ गया और सिकंदर की गुड़िया फंस गई। अब पूरा पंचायत सन्न है और पुलिस सबूतों के आधार पर इस घटना की जाँच कर रही है। ghost reached panchayat 
( हरिशंकर तिवारी )




Web Statistics