केजरीवाल रविन के परिवार से मिलने बिसाहड़ा जाएंगे !





रविन की मौत के बाद उत्तर प्रदेश सियासत में हड़कम्प मच गया है। रविन के गांव बिसाहड़ा में स्थिति तनाव पूर्ण है। जनाक्रोश बढ़ता जा रहा है लेकिन इस बीच जो अहम मुद्दा सामने आ रहा है वो ये है कि उत्तर प्रदेश सरकार रवीन की मौत के बाद मूक दर्शक बनी हुई है। kejriwal will go bisada

ज्ञात रहे कि इखलाक की मौत के बाद अखिलेश सरकार ने उसके परिजनों को 45 लाख रूपये, बंगला, नौकरी सब कुछ दिया और ये रकम कुल मिलाकर 1.5 करोड़ से भी अधिक की है। जबकि अखिलेश यादव खुद उनके घर पर जाकर इस मुद्दे को अमलीजामा पहनाया था लेकिन आज जब रवीन की मौत हुई है तो अखिलेश सरकार मूक दर्शक बनी बैठी है। kejriwal will go bisada

विश्वस्त सूत्रों से पता चला है कि जो भी सहायता राशि अखिलेश सरकार ने रविन के परजिनों को देने की घोषणा की है वो केवल औपचारिक घोषणा है। वही रविन के परिवार वालों ने भी अखिलेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार ने मेरे बेटे को मरवा दिया है। मुझे अखिलेश सरकार की भीख नहीं चाहिए। भगवान् देख रहा है वो जल्द ही इंसाफ करेंगे। kejriwal will go bisada

यदि बात अखिलेश सरकार की है तो कही न कही अखिलेश सरकार रविन के परिवार के साथ भेदभाव कर रही है। एक और जंहा इखलाक के मरने के बाद अखिलेश सरकार ने नोटों की बारिश की थी वही रविन की मौत के बाद अखिलेश सरकार ने रविन के परिवार के साथ ज्यादती कर रही है। kejriwal will go bisada

जाति की आड़ में राजनीति करते रह जाएंगे kejriwal will go bisada

जबकि वही बात की जाए अन्य पार्टी और उनके नेताओं की तो वो भी रवीन की मौत पर चुप्पी साधे हुए है। कोई कुछ नहीं बोल रहा है न ही रविन के घर पर गए है। जबकि इखलाक के मरने के बाद उसके घर पर वोट बटोरने के चक्कर में नेताओं की भीड़ लगी रहती थी। kejriwal will go bisada

सलमान खान और केजरीवाल पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होना चाहिए : संजय राउत

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल भी इखलाक के घर पर गए थे किन्तु आज जब रविन की मौत हो गई है तो केजरीवाल एक बार भी बिसाहड़ा का जिक्र नहीं कर रहे है। जब भी मुस्लिम अथवा दलित मुद्दे की बात आई है तो केजरीवाल बिना तथ्यों को समझे वोट बैंक के लिए वहाँ पहुँच गए है फिर चाहे वो रोहित बेमुला आत्महत्या हो या फिर इखलाक की मौत हो। सब जगह पर केजरीवाल हाजिर रहे है किन्तु जब बात आती है हिंदुओं की तो केजरीवाल ऐसे अनजान बनते है जैसे कुछ हुआ ही नहीं हो। kejriwal will go bisada

अब तो लोगों के जहन में एक ही सवाल उठता है कि क्या केजरवाल बिसाहड़ा रविन के परिवार वालों से मिलने जाएंगे ? क्या और भी नेता जो इखलाक की मौत के बाद उसके घर पर गए थे वो रविन के घर जाएंगे या केवल जाति की आड़ में राजनीति करते रह जाएंगे। ये देखने वाली बात है। kejriwal will go bisada
( प्रवीण कुमार )



Web Statistics