मोदी में विश्व पर राज करने की क्षमता है : अमेरिका modi has ability to rule the world




प्रवीण कुमार, अमेरिका के बढ़ते मोदी प्रेम से न केवल चीन बल्कि पाकिस्तान भी परेशान है और इसके लिए दोनों देश खुलकर मोदी और अमेरिका के मोदी प्रेम का विरोध करने पर तुली है। हाल ही में अमेरिका ने ये घोषणा किया है कि आगामी एनएसजी की बैठक में भारत को इसका सदस्य बनाया जाएगा। अमेरिका के इस घोषणा के बाद चीन और पाकिस्तान अमेरिका के इस फैसले का खुलकर विरोध कर रहा है। modi ability rule world

  इसी क्रम में अमेरिकी विदेश मंत्रालय के उप प्रवक्ता मार्क टोनर ने सवांददाता को सम्बोधित करते हुए कहा कि पाकिस्तान को इसमें हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए।  ये कोई प्रतियोगिता नहीं है जो पाकिस्तान भारत का विरोध करने में जुटी है जबकि वास्तविकता तो ये है कि भारत को समूह का सदस्य बनाने का मतलब हथियारों की दौड़ में शामिल नहीं करना है बल्कि ये परमाणु ऊर्जा असैन्य इस्तेमाल के बारे में है। पाकिस्तान को यह बहुत जल्द समझना होगा कि ये हथियार की बिकवाली को लेकर नहीं है बल्कि इसका इस्तेमाल असैन्य कार्यों में होगा। मार्क टोनर ने कहा कि एनएसजी में सदस्य्ता के लिए कोई भी आवेदन कर सकता है और इस बाबत भारत ने आवेदन किया है जिसे एनएसजी ने स्वीकार कर लिया है। modi ability rule world

चीन भी आया भारत के साथ modi ability rule world

आपको बता दें कि चीन ने भी इसका विरोध जताया था लेकिन राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के पिछले सप्ताह की चीन यात्रा के बाद चीन ने यू टर्न ले लिया है और अब चीन भारत के समर्थन में आ खड़ा हुआ है। मोदी के समर्थन में आकर चीन ने पाकिस्तान को बड़ा झटका दिया है। इससे पहले चीन ने संयुक्त राष्ट्र संघ के परमाणु सुरक्षा सम्मेलन में भारत के जैस ए महोमद पर प्रतिबंध याचिका के विरोध में वीटो कर भारत की उम्मीदों पर पानी फेर दिया था।

हालांकि, मॉस्को में इंडो-चीन के विदेश स्तर की वार्ता में चीन ने आश्वासन दिया था कि भविष्य में दोनों देश कभी एक दूसरे के आंतरिक मामले में दखलंदाजी नहीं करेगा। किन्तु चीन ने हर प्रमुख अवसर पर भारत को धोखा दिया है। इसलिए भारत को चीन के दो मुखी रूप से बचकर रहने की जरुरत है। modi ability rule world

हालांकि, इसमें दो राय नहीं है कि चीन इस बात से वाकिफ है कि यदि भारत के साथ अधिक दिनों तक मनमुटाव रहा तो इससे अधिक नुकसान चीन को ही उठाना पड़ सकता है क्योंकि एक तरह अमेरिका और जापान भारत के साथ हर क्षेत्र में विकास के भागीदार बनने के इच्छुक है। वही दूसरी तरफ विश्व की अर्थव्यवस्था में भारत एक एकलौता ऐसा देश है जंहा आर्थिक मंदी नहीं छाई है। ऐसे में चीन भारत के साथ व्यापारिक रिश्तों को और भी व्यापक बनाने की कोशिश करेगा। modi ability rule world

कल पीएम नरेंद्र मोदी ने साफ-साफ कह दिया कि दोहरी राजनीति के जरिये भारत-पाकिस्तान के सम्बन्ध मधुर नहीं होंगे। पाकिस्तान को सबसे पहले आतंकवादी गुट को मिल रहे समर्थन पर पाबन्दी लगाना होगा, उसके बाद ही वार्ता का दौर आगे बढ़ाना चाहिए। मोदी ने कहा कि हम चाहते है कि भारत के साथ-साथ पाकिस्तान का भी विकास हो किन्तु इसके लिए पाकिस्तान को पहले अपने देश में सुधर करने की जरुरत है। मोदी के विचारों से स्प्ष्ट है कि मोदी विश्व पर छाने के बाद अब पाकिस्तान के लोगों का दिल जितना चाहते है जो कार्य उन्होंने 25 दिसम्बर 2015 को किया था। वो सराहनीय रहा है।

पाकिस्तान को अब बदले की राजनीति छोड़ देश के विकास के लिए भारत के साथ सहयोग करने की आवशयकता है। यदि पाकिस्तान ऐसा नहीं कर पाया तो निकट भविष्य में पाकिस्तान ना जाने कितने टुकड़ों में बंट जाएगा। modi ability rule world

( ये लेखक का निजी विचार है )




Web Statistics