मोदी मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार





मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया है। उन्नीस मंत्री बनाए गए हैं। सभी नए चेहरे को राज्य मंत्री ही बनाया गया है। यू पी, एम पी, गुजरात और राजस्थान से मंत्री बनाए गए हैं। modi govt expansion

इसमें सबसे ज्यादा राजस्थान से चार एवं यू पी एवं एम पी से तीन तीन मंत्री बनाए गए हैं। सबसे बड़ी बात ये है की अगले साल पंजाब में चुनाव है लेकिन पंजाब से एक भी मंत्री नहीं बनाए गए हैं। modi govt expansion

मोदी का ये फैसला पंजाब चुनाव के दृष्टि से ठीक है या गलत ये तो समय ही बताएगा। पुराने मंत्रियों में पांच मंत्रियों ने इस्तफा भी दिया है। इनमें राम शंकर कठेरिया,निहालचंद्र ,मनसुख भाई डी वासवा, एम के कुंदरिया एवं सुंदरलाल जाट है जिन्होंने अपना इस्तफा सौंप दिया है। 75 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों को मंत्री नहीं बनाया गया है।

सबसे कम उम्र की मंत्री अनुप्रिया पटेल हैं। जो अभी मात्र 35 साल की हैं ,ये अपना दल की हैं जो अब बी जे पी में विलीन हो गया है। एक गड़बड़ तब हो गया जब शपथ ग्रहण समारोह में महाराष्ट्र के आरपीआई नेता रामदास अठावले ने शपथ लेते समय अपना नाम ही भूल गए। modi govt expansion

राष्ट्रपति के तीन बार कहने के बाद रामदास अठावले को अपना नाम याद आया। राजस्थान से अर्जुन राम मेघवाल ,पी पी चौधरी ,सी आर चौधरी और विजय गोयल को राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया है।

इसमें विजय गोयल राजयसभा सांसद है ,इन्हें दिल्ली का नेता माना जाता है। पी पी चौधरी पाली से सांसद हैं ,सुप्रीम कोर्ट के वकील हैं ,अब तक 11 हजार से अधिक केश लड़ चुके हैं। नागौर के सांसद राजस्थान एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस में अफसर और मेवाड़ यनिवर्सिटी का वाइस चांसलर रह चुके हैं। modi govt expansion

यू पी की अनुप्रिया पटेल यू पीए की सहयोगी पार्टी अपना दल की नेता हैं। मिर्जापुर की ये सांसद हैं। कृष्णाराज दलितों का नेता है। शाहजहां पुर से सांसद हैं। महेंद्र नाथ पांडेय चंदौली से से सांसद हैं। 1957 में लोकसभा के लिए पहली वार चुने गए थे।

अजय टम्टा जो अल्मोड़ा उत्तराखंड से सांसद हैं एक प्रसिद्ध दलित चेहरा है। एम पी से अनिल माधव दवे मंत्री बनाए गए हैं। ये संगठन से जुड़े एक नेता हैं। फग्गन सिंग कुलस्ते मंडला से सांसद हैं। आदिवासियो का ये सबसे जाना माना चेहरा माने जाते हैं। modi govt expansion

महज 97 घंटो में तीन देशो की यात्रा कर मोदी बनाया विश्व कीर्तमान

एम जे अकबर राजयसभा से सांसद हैं एक जाने माने पत्रकार भी हैं। महाराष्ट्र के सुभाष भामले धुले से सांसद हैं। रामदास आठवले आरपी आई के चीफ एवं यू पी ए का सहयोगी दल के नेता हैं। जसवंत सिंह गुजरात दाहोद से सांसद हैं। गुजरात से ही मनसुख मंडाविया राज्य सभा सांसद हैं। modi govt expanded

गुजरात से ही पुरषोत्तम रुपाला हैं जो मंत्री रह चुके हैं। ये मोदी के करीबी बताए जाते हैं। असम से राजेश गोहेब नागाँव से सांसद हैं। राजेश जिगजिगानी बीजापुर कर्नाटक से सांसद हैं। संगीतकार ,उद्दोगपति होने के साथ साथ 5 वार सांसद एवं तीन वार विधायक रह चुके हैं।

एस एस अहलूवालिया दार्जलिंग बंगाल से सांसद हैं। ये काफ़ी समय तक राज्य सभा सांसद एवं बी जे पी के उपनेता रहे। इस अवशर पर पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को स्टेट से कैबनेट का दर्जा दिया गया। इसमें शिव सेना को कोई जगह नहीं दिया गया। इसे मोदी ने फेरबदल के जगह विस्तार कहा है। modi govt expanded

जिनकी छुट्टी हुई है उनमें एम के कुंदरिया कृषि राज्य मंत्री ,निहालचंद्र रसायनमन्त्री ,सांवरलाल जाट जलसंसाधन मंत्री ,मनसुख वासवा ,आदिवासी मामलों के मंत्री थे। रामशंकर कठेरिया मानवसंसाधन मंत्री थे। modi govt expansion

ये सभी राज्य मंत्री थे। शिव सेना ने कहा हमे भीख नहीं हक़ चाहिए। अफ्रीका यात्रा से पहले मोदी इस विस्तार को लेकर अमित शाह से कई बार बात कर चुके थे। अब ये मंत्रिमंडल क्या करते हैं ? मोदी का सपना साकार करने में इनकी भूमिका का अब देश को इन्तजार है। modi govt expansion 
( हरि शंकर तिवारी।)



Web Statistics