केजरीवाल का downfall राहुल हुए up, मोदी लहर की वापसी




पीएम मोदी को देश का प्रधानमंत्री बने ढाई साल हो चुके है और इन ढाई साल के दौरान देश में मोदी के प्रति क्रेज घटता और बढ़ता रहा है। मोदी लहर में कमी उस समय देखने को मिली जब दिल्ली और बिहार के विधान सभा चुनाव में बीजेपी की हार हुई। modi wave beat kejriwal 

बिहार और दिल्ली के विधान सभा चुनाव में लोगो ने पीएम मोदी को ठुकरा दिया था किन्तु अख़लाक़ की मौत के बाद पीएम मोदी के प्रति लोगों में जो भावना जगी वो उनके द्वारा दिए गए गौ हत्या पर बयान से कम हो गई लेकिन ups और down के बीच पीएम मोदी ने अपना सयंम नहीं खोया और तमाम तरह की आलोचना का सामना करते हुए आज फिर से पुरे देश में मोदी लहर की गूंज पहुंचाई है। modi wave beat kejriwal 

आज देश में फिर से पीएम मोदी लहर की वापसी हुई है चारों तरफ मोदी-मोदी के जयकारे लगाये जा रहे है और मोदी की तारीफदारी हो रही है। पीएम मोदी के मुरीद न केवल पक्ष बल्कि विपक्ष के लोग भी हो गए है। modi wave beat kejriwal 

इसका मुख्य कारण पीएम मोदी का विदेश नीति का विस्तार करना, विश्व के सभी देशों के साथ सम्बन्धों में मजबूती लाना है। पीएम मोदी द्वारा एशिया बल्कि अफ्रीका, यूरोप और अमेरिकी महादेश के देशों के साथ राजनयिक संबंध को मजबूती प्रदान की गई है। आज अमेरिका का मोदी प्रेम विश्व जगत पर भारत की सफलता को प्रदर्शित करता है। कुल मिलाकर ये कहा जा सकता है कि लोगों की आलोचना के बाबजूद पीएम मोदी की विदेश यात्रा रंग लाई है। modi wave beat kejriwal 

देश में आज मोदी सरकार के पाक पर लिए गये फैसले को काफी सराहा जा रहा है जिसमें सिंधु जल संधि, सर्जिकल स्ट्राइक, पाक को दो टूक जबाब, चीन को कूटनीति चाल से परास्त करना ये सब अहम् मुद्दे  है। modi wave beat kejriwal 

केजरीवाल की घटी लोकप्रियता modi wave beat kejriwal 

पीएम मोदी की लहर वापसी से केजरीवाल की लोकप्रियता कम हुई है। जब दिल्ली में चुनाव हुआ था तो दिल्ली की जनता ने केजरीवाल को अपना नेता चुना, किन्तु समय के साथ केजरीवाल ने अपने रंग बदले आज स्थिति ये है कि भ्रष्टाचार मुक्त दिल्ली की बात करने वाले केजरीवाल आज खुद देश का सबसे बड़े भ्रष्ट नेता बन चुके है। modi wave beat kejriwal 

भारत के दबाब में आया पाकिस्तान, पहली बार कश्मीर को भारत के साथ रहने की दी सलाह

एक रिसर्च के अनुसार 2014 में केजरीवाल की जो लोकप्रियता थी वो अब नहीं रही है। दिन व दिन उनकी लोकप्रियता में कमी आ रही है इसका मुख्य कारण केजरीवाल की ओछी राजनीति है। modi wave beat kejriwal 

यदि बात की जाए केजरीवाल सरकार के मंत्रिमंडल की तो 60% मंत्री बिके हुए है। जबकि यदि बात की जाए केजरीवाल के मंत्रियों के जेल भरो मुहीम को तो अब तक केजरीवाल सरकार के 12 मंत्री सलाखों के पीछे है। modi wave beat kejriwal 

वही केजरीवाल ने जो भी दिल्ली वासी से वायदे किये थे उनमे से अब तक एक भी पुरे नहीं किये है। जिस कारण केजरवील की लोकप्रियता दिन व् दिन घटती जा रही है। यदि केजरीवाल की राजनीति इस तरह की चलती रही तो वो दिन दूर नहीं जब केजरीवाल को पुनः आईआरएस ज्वाइन करना पड़ जाएगा क्योंकि अब तो धरना देने से भी काम नहीं बनने वाला है। modi wave beat kejriwal 

राहुल गाँधी की बढ़ी लोकप्रियता

वही बात करें राहुल गाँधी की तो केजरीवाल की लोकप्रियता घटने से राहुल गाँधी फायदे में चल रहे है इसका एक उधारण दिल्ली नगर निगम उप चुनाव के परिणाम में देखने को मिलता है, इस चुनाव में कांग्रेस ने 5 सीट हासिल की थी। modi wave beat kejriwal 

राहुल गाँधी का up जाने का मुख्य कारण, वो वोट है जो पीएम मोदी के साथ नहीं जा सकते है। जी हां, देश में कुछ ऐसे लोग है जो पीएम मोदी के समर्थन में नहीं आ सकते है ये उनकी मज़बूरी है। उस एवज में जरुरी है की किसी अन्य पार्टी को चुना जाए। ऐसे में केजरीवाल एक विकल्प के रूप में थे किन्तु केजरीवाल की घटित लोकप्रियता से उनके पास एक ही विकल्प राहुल गाँधी है। जिस कारण आज राहुल गाँधी फिर से देश में पॉपुलर होते जा रहे है। modi wave beat kejriwal 

( प्रवीण कुमार )




Web Statistics