मोदी से बचने के लिए पाकिस्तान पहुंचा रूस




चीन अब एनएसजी सदस्यता के मामले पर अब अकेला दिखता नज़र आ रहा है। वही दूसरी तरफ भारत को एनएसजी सदस्यता के लिए अमेरिका के तरफ से समर्थन मिलने पर पाकिस्तान की चिंता साफ़ नज़र आ रही है। pak reached russiabecause modi

पाकिस्तान ने न्यूक्लियर टेक्नोलॉजी होल्डर्स कार्टेल को चेताया है की अगर भारत को एनएसजी की सदस्यता मिली है तो इससे दक्षिण एशिया की कूटनीतिक स्थिरता पर नकारात्मक असर पड़ेगा। चिंतित पाकिस्तान अब अपनी एनएसजी सदस्यता के लिए रूस, दक्षिण-कोरिया और न्यू-ज़ीलैण्ड की तरफ देख रहा है। pak reached russiabecause modi

पाकिस्तान ने एनएसजी सदस्यता जुटाने के लिए इस्लामाबाद में एक ब्रीफिंग सेशन भी रखा है। विदेश मंत्रालय की यूएन डेस्क की हेड तस्नीम असलान ने कहा है कि ”पाकिस्तान के न्यूक्लियर ऍप्लिकेशन्स के शांतिपूर्वक इस्तेमाल के लिए पाकिस्तान के पास एनएसजी आइटम्स और सर्विसेज सप्लाई करने के लिए ज़रूरी विशेषता,मैनपावर,इंफ्रास्ट्रक्चर और क्षमता है।” मीटिंग में मौजूद डिप्लोमेट्स से उन्होंने कहा की वे नॉन-एनटीपि वाले देशों के लिए भेद-भाव और निष्पक्ष रवैया अपनाए। pak reached russiabecause modi

मैं बनूंगा उत्तर प्रदेश का अगला मुख़्यमंत्री : राहुल गांधी

पाकिस्तान के विदेशी मामलों के सलहकार सरताज अजीज ने बुधवार को फ़ोन पर रूस,न्यू-ज़ीलैण्ड के विदेश मंत्रियों से इस मामले पर बातचीत भी की है। भारत ने हाल ही में एनएसजी सदस्यता पाने के लिए अपना अभियान तेज कर दिया है। pak reached russiabecause modi

भारत के इस दावे पर चीन ने आपत्ति जताई है। इससे उत्साहित पाकिस्तान ने एनएसजी सदस्यता के लिए पिछले महीने औपचारिक तौर पे आवेदन भी कर दिया था। वही दूसरी तरफ चीन ने एनएसजी में भारत की एंट्री पर रोक लगने के लिए पूरी ताकत लगा दी है हालाकि,भारत को अब स्विट्ज़रलैंड,मेक्सिको और अमेरिका का भी समर्थन मिल चूका है। अब दुनिया के इकलौते न्यूक्लियर कार्टेल में भारत की शामिल होने की संभावनाए भी काफी बढ़ गयी है।pak reached russiabecause modi



Web Statistics