मोदी के डर से ब्रिटेन ने पाकिस्तान को नहीं दिये 350 करोड़ रूपये





मोदी का असर न केवल अमेरिका पर सर चढ़ कर बोल रहा है बल्कि इस कल्ब में अब ब्रिटेन भी शामिल हो गया है। एक ताजा घटनाक्रम में पता चला है की ब्रिटेन ने पाकिस्तान को 350 करोड़ रूपये देने से इंकार कर दिया है। इससे पहले अमेरिका ने पाकिस्तान को 55 हजार डॉलर्स सहायता देने के प्रस्ताव को रद्द कर दिया था।

ये रकम पाकिस्तान को अमेरिका हक्कानी ग्रुप पर नकेल कसने के लिए देता था किन्तु पाकिस्तान पिछले कुछ सालों में इस रकम को हक्कानी ग्रुप के खिलाफ प्रयोग न कर अस्त्र-शस्त्र खरीदने में प्रयोग करने लगा था। जिस कारण अमेरिकी कांग्रेस ने वाइट हाउस के पाकिस्तान को दिए जाने वाले अनुदान राशि का विरोध की जिसके एवज में ओबामा सरकार ने ये सहायता देने पर रोक लगा दी। pm modi fear britain upset pakistan

मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद भारत की जो छवि विशव पटल पर बनी है। ये उसका ही नतीजा है की आज अमेरिका सहित दुनिया के तमाम बड़े देश मोदी से हाथ मिला रहे है। यदि बात की जाये पाकिस्तान पर मोदी की कुशल राजनीति का असर तो ये भी जगजाहिर है की मोदी के पीएम बनने के बाद पाकिस्तान की जी हजूरी कम हुई है। इसका मुख्य कारण है की मोदी ने पाकिस्तान के सभी रास्ते को बंद कर दिया है। pm modi fear britain upset pakistan 
क्या है इसका सच आइये जानते है !
ये घटना 70 साल पुरानी है।

एनएसजी मामले में मोदी के सामने झुका चीन

पाकिस्तान 1947 मे भारत से अलग राष्ट्र बना ,उस समय भारत मे कई ऐसे रियासत थे जिनके आलाकमान जबरन खुद को आज़ाद मानते थे इनमे से एक हैदराबाद के निज़ाम की रियासत। उस समय मीर उस्मान अली खान हैदराबाद के निज़ाम थे आज़ादी के बाद मीर उस्मान अली भारत का हिस्सा नहीं बनना चाहते थे आज़ादी के 1 साल बाद तत्कालीन गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल ने हैदराबाद की रियासत को कब्जा करने के लिए भारत की फौज को भेज दी pm modi fear britain upset pakistan 

 भारतीय सेना ने हैदराबाद की रियासत पर कब्ज़ा 18 सितंबर 1948 मे किया । जब हैदराबाद नै खुद को चारो तरफ से घिर हुआ पाया तोह निजाम मीर उस्मान अली नै भारत के प्रस्ताव को मन कर विलय पत्र पर हस्ताक्षर करने के लिए सहमत हुए। इसके बाद हैदराबाद भारत का हिस्सा बन गया। pm modi fear britain upset pakistan 

इस विलय की ख़बर जैसे ही निज़ाम के खजांची मोइन नवाज को पहुंची तब उन्होंने तुरंत लंदन मे निज़ाम के खाते से 1,007,940 पाउंड और 9 शिलिंग की रकम तत्कालीन उच्चायुक्त हबीब इब्राहिम के खते मे जमा कर दी। उस समय निजाम का खाता ब्रिटेन के नेशनल वेस्टमिंस्टर बैंक में था

जैसे ही निज़ाम मीर उस्मान अली को इस हरकत की जानकारी हुई। तब उन्होंने पाकिस्तान सरकार से अपने पैसे वापिस माँगा तोह पाकिस्तान सरकार नै वह पैसे लौटने से इंकार कर दिया पाकिस्तान सरकार नै 10  लाख पाउंड की रकम मे अपना हक़ जताने लगी। pm modi fear britain upset pakistan 

आज की तारीख में इस खाते में तक़रीबन 350 करोड़ रूपये है pm modi fear britain upset pakistan


भारत सरकार ने पाकिस्तान की हठ को देखते हुए ब्रिटेन अदालत का दरवाजा खटखटाया है। तब से ये खाता फ्रिज है। आज की तारीख में इस खाते में तक़रीबन 350 करोड़ रूपये है। भारत ने ब्रिटेन की अदालत में अपना पक्ष रखते हुए कहा की ये पैसा हैदराबाद की जनता का है अतः पैसा हैदराबाद को मिलना चाहिए। चुकी हैदराबाद अब भारत में है अतः इस पैसे पर भारत का हक बनता है। pm modi fear britain upset pakistan 

इस सन्दर्भ में ब्रिटेन की अदालत ने अपने आदेश में दोनों देशों को मिलकर सुलझा लेने की बात कही है किन्तु पाकिस्तान अपने जिद पर अड़ा है की इस पैसे पर केवल पाकिस्तान का हक है। जिस कारण अभी तक इस केस का निपटारा नहीं हो सका है और अब मोदी के दबाब से ब्रिटेन सरकार ने पैसे पाकिस्तान को देने से मना कर दिया है।  pm modi fear britain upset pakistan 
( अपूर्व उप्रेती )




Web Statistics