क्या मुझे वाकई में 15 दिनों के लिए छुट्टी पर जाना चाहिए : राहुल गांधी rahul-gandhi-free-congres




प्रवीण कुमार,

पांच राज्यों में हाल ही में चुनाव सम्पन्न हुआ और परिणाम कांग्रेस पार्टी के लिए बेहद निराशाजनक रहा है। जंहा कांग्रेस ने असम राज्य गवा दिया है।वही केरल भी हाथ से फिसल गया है। जबकि पश्चिम बंगाल का परिणाम तो बेहद निराशाजनक रहा। कांग्रेस एक तरह से सिमटती जा रही है। यदि आंकड़े को देखा जाये तो कांग्रेस का राज केवल 6 राज्यों तक सिमित रह गई है।  rahul-gandhi-free-congres

हाल के प्रदर्शन से कांग्रेस पार्टी में विरोधाभास प्रकट होने लगा है। कई बड़े नेताओं के साथ-साथ अब पार्टी कार्यकर्ता भी खुलकर राहुल गांधी के विरोध में बयान देने लगे है। जंहा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने अपने विरोधाभास में कहा है कि पार्टी में सर्जरी की जरुरत है। जिसे पार्टी प्रवक्ता शशि थरूर ने यह कहकर समर्थन किया कि वाकई में पार्टी को बड़े बदलाव की जरुरत है।  rahul-gandhi-free-congres

इन दोनों की माने तो ये बड़ा बदलाव किस तरह का होना चाहिए। वही पार्टी के अन्य कार्यकर्ता का मानना है कि कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी को छुट्टी पर जाना चाहिए। विचारणीय तथ्य यह है कि यदि राहुल गांधी 15 दिनों की छूट्टी पर जाते है तो किया कांग्रेस पार्टी में विशेष बदलाव आ जाएगा। ऐसे में तो बस एक बात स्प्ष्ठ झलकती है कि कांग्रेस के बड़े नेताओं के साथ कार्यकर्ता भी पार्टी में बड़ा बदलाव करना चाहते है। दिग्विजय सिंह के बयान से स्पष्ठ है कि वो खुद पार्टी में कोई बड़ा पद हासिल करना चाहते है और रही बात पार्टी के कार्यकर्ताओं की तो उन्हें भी लगे हाथ कुछ ना कुछ जरूर हासिल हो जाएगा।  क्या मुझे वाकई में 15 दिनों के लिए छुट्टी पर जाना चाहिए : राहुल गांधी rahul-gandhi-free-congres




Web Statistics