राशन कार्ड vs खाट लूट





यदि देश की ताजा राजनैतिक पहलू पर नजर दौड़ाई जाए तो राशन कार्ड और खाट लूट ये दो मामले चर्चा में है ! राशन कार्ड का मुद्दा केजरीवाल सरकार से सम्बंधित है। केजरीवाल सरकार के महिला एवम बाल विकास मंत्री के सेक्स विडियो के लीक होने के बाद से केजरीवाल सरकार मुँह दिखाने लायक नहीं रही है। दिल्ली के महिला और बाल विकास मंत्री संदीप कुमार को कल अदालत ने 14 दिनों के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। rahul gandhi kisan yatra versus kejriwal 

आपको बता दें कि एक अनजान शख्स ने संदीप कुमार के काले कारनामे को उजागर किया है। इस शख्स ने संदीप कुमार के सेक्स विडियो और इससे सम्बन्धी कुल 19 फोटो को मीडिया के साथ साझा किया था। जिसके बाद ये मुद्दा पुरे देश में फ़ैल गया। rahul gandhi kisan yatra versus kejriwal 

हालांकि, केजरीवाल ने औपचारिकता पूरी करते हुए संदीप कुमार को पार्टी से निकाल दिया किन्तु जो लांछन केजरीवाल सरकार पर लगी है उसे कैसे केजरीवाल सरकार कैसे हटाएगी ? यदि केजरीवाल सरकार के मंत्रियों पर ध्यान दिया जाये तो पता चलता है कि सभी अयोग्य व्यक्ति को महत्वपूर्ण जिम्मेवारी दी गई है। rahul gandhi kisan yatra
संदीप कुमार महिला एवम बाल विकास मंत्री जिसे महिला की रक्षा का जिम्मा सौपा गया था वही महिला का भक्षक बन बैठा। इसके आलावा जिंतेंद्र सिंह, अमानतुल्ला खान, दिनेश मोहनिया आदि ऐसे मंत्री है जो अयोग्य है किन्तु केजरीवाल ने इसकी परवाह किये बिना जिम्मेवारी दी, आज उसी का नतीजा है कि राजधानी में पंगु सरकार है। rahul gandhi kisan yatra versus kejriwal 

अखिलेश यादव ने कांग्रेस और सपा को साथ मिलकर चुनाव लड़ने के दिए संकेत !

वही राहुल गाँधी का खाट चौपाल काफी लोकप्रिय हुआ है कहते है न कि नेकी से किये गए काम का नतीजा भी सुखदायी होता है किन्तु जब ईष्या, घृणा और झूठ पर कोई काम किया जाता है तो वो काम सफल नहीं होता है। rahul gandhi kisan yatra

राजधानी में पंगु सरकार है

राहुल गाँधी का खाट चौपाल भी इसका एक उधारण है पीएम मोदी के खिलफ राहुल गाँधी ने देवरिया से दिल्ली तक के लिए सड़क किसान यात्रा की शुरुवात की है लेकिन ये खाट चौपाल किसान को लेकर लोकप्रिय नहीं हुआ बल्कि खाट लूट के लिए अधिक लोकप्रिय हुआ है। rahul gandhi kisan yatra versus kejriwal 

जब राहुल गाँधी ने देवरिया में खाट चौपाल की शुरुवात की और देवरिया से दिल्ली के लिए आगे बढ़े, उसी वक्त एकत्र हुए भीड़ ने खाट चौपाल में पड़े खाट पर हमला बोल दिया। एक-एक कर भीड़ ने सारे खटिया को लूट लिया। यंहा तक कि इस लूट में कई लोग घायल भी हुये। ये दोनों मुद्दे विपक्षियों के लिए सबक है। पीएम मोदी का विरोध करने वाले तुम्हारी किसी भी प्रकार से खैर नहीं है। rahul gandhi kisan yatra versus kejriwal 
( प्रवीण कुमार )




Web Statistics