मायावती माफ़ी मांगे और नईमुद्दीन को भेजो जेल




उत्तर प्रदेश में लॉ एंड आर्डर की स्थिति नाजुक हो चुकी है। एक तरफ जंहा दयाशंकर के बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया। वही बसपा ने तो हद ही कर दी। बीजेपी उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह के उस बयान पर राज्य में सियासी हलचल तेज हो गई। send naimuddin jail  

बसपा नेता नईमुद्दीन सिद्दकी ने सारी मर्यादा और सीमा को तोड़ दिया। बसपा के विरोध प्रदर्शन में नईमुद्दीन सिद्दीकी ने अभद्र भाषा का प्रयोग कर महिलाओं के सम्मान को ठेस पहुंचाया है।सिद्दीकी के खिलाफ इस कुकृत के लिए एफआईआर दर्ज होनी चाहिए। ज्ञात हो कि नईमुद्दीन ने दयाशंकर सिंह के बयानों पर टिपण्णी करते हुए कहा कि दयाशंकर अपनी बीबी और बेटी को पेश करो, बेटी को पेश करो। send naimuddin jail   

आपको बता दें कि दयाशंकर सिंह की बेटी मात्र 12 साल की है। उस छोटी सी नन्ही लड़की के लिए इस तरह अभद्रता व्यवहार करना असंवैधानिक है। इसके लिए नईमुद्दीन सिद्दीकी पर क़ानूनी करवाई होनी चाहिए। बसपा सुप्रीमो को भी पार्टी में इस तरह के नेताओं को जगह देने के लिए माफ़ी मांगनी चाहिए। इन नेताओं का स्थान जेल में होना चाहिए। send naimuddin jail

गौ मांस खाने वालों को ममता ने किया आमंत्रण, बंगाल में मिलेंगे गौ मांस

आपको बता दें कि एक कार्यक्रम के दौरान बीजेपी के उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह ने मौर्या के बयान का खंडन करते हुए कहा था, बसपा पैसे के बदले में टिकेट देती है। ये काम अव्यवहारिक महिला ही कर सकती है। इस बात को लेकर मायावती ने दयाशंकर पर करवाई करने की मांग की थी। send naimuddin jail   

हालांकि, बीजेपी ने तत्कालीन करवाई करते हुए दयाशंकर को पार्टी से निष्काषित कर दिया था। बाद में, दयाशंकर ने भी अपने बयान के मायावती से माफ़ी माँगा था। किन्तु बसपा कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह पर दयाशंकर के पुतले फूंके थे, और अपने नारेबाजी में दयाशंकर अपनी बेटी पेश करो, पेश करो का नारा लगाया था। जिसके बाद से राजनिति सरगर्मी तेज हो गई थी। send naimuddin jail   

बुआ जी की सरकार न आ जाए send naimuddin jail   

बसपा और बीजेपी के बीच छिड़ी जंग अब सियासी रूप ले लिया है। आज अखिलेश यादव ने एक स्वागत सम्मान समारोह में चुटकी लेते कहा, दोनों पार्टियों में गालियां देने का कॉम्पीशन हो रहा है। कौन सबसे अच्छा गाली दे सकता है। पहले दयाशंकर ने मायावती को गाली दी। वही मायावती के समर्थकों ने अधिक गाली दी है।

उन्होंने कहा कि एक आदर्श राज्य में कुछ नेता मंच पर खड़े होकर महिलाओं को गाली दे रहे थे। वो अशोभनीय है। राज्य में महिलाओं का सम्मान होना चाहिए। अभी भी मामला शांत नहीं हुआ है। दोनों इस होड में है कि कौन अच्छा गाली दे सकता है। send naimuddin jail  

अखिलेश ने कहा मेरी मानिये अगले महीने रक्षा बंधन है। दोनों के लिए अवसर है। दयाशंकर फिर से माफ़ी मांग लें, मायावती राखी बांध दें। झगड़ा खत्म। उन्होंने सम्मान में आये सभी लोगों से कहा, ध्यान रखिये की अगली बार फिर से बुआ जी की सरकार न आ जाए, नहीं तो चप्पल आपको बाहर ही उतारनी पड़ेगी। send naimuddin jail

अंत में अखिलेश यादव ने कहा कि राज्य सरकार महिलाओं का सम्मान करती है। जो कोई महिलाओं के खिलाफ कोई अत्याचार अथवा गलत टिपण्णी करेगा। उस पर क़ानूनी करवाई होगी। send naimuddin jail   

( प्रवीण कुमार )



Web Statistics