शहाबुद्दीन को फिर से जाना होगा जेल : नितीश सरकार




बिहार के बाहुबली और लालू यादव का दाहिना हाथ से जानने वाले शख्स शहाबुद्दीन अभी दो दिन पूर्व ही जेल से छूटे है लेकिन उनके छूटते ही बिहार में राजनैतिक गहमागहमी तेज हो गई है। विपक्षी पार्टियों ने नितीश सरकार को शहाबुद्दीन की रिहाई के लिए जमकर घेरा और आलोचना की। shahbuddin will go jail 

इस एवज में नितीश सरकार ने आनन्-फानन में आज कैबिनेट स्तर की मीटिंग बुलाई। जिसमें शहाबुद्दीन की रिहाई पर चर्चा की गई। सूत्रों से पता चला है कि बिहार सरकार सीसीए एक्ट के तहत शहाबुद्दीन को फिर से जेल भेज सकती है। shahbuddin will go jail 

आपको बता दें कि इसी महीने की 7 तारीख को पटना हाई कोर्ट ने शहाबुद्दीन को जमानत दे दी थी। जिस कारण शहाबुद्दीन भागलपुर जेल से रिहा हुए थे। बताया जाता है कि शहाबुद्दीन का जेल के मुख्य द्वार पर भव्य स्वागत किया गया। shahbuddin will go jail 

बिहार सरकार सीसीए एक्ट के तहत शहाबुद्दीन को फिर से जेल भेज सकती है।

हजारों की संख्या में शहाबुद्दीन के समर्थकों ने गाजे-बाजे और पटाखे से शहाबुद्दीन का स्वागत किया। जेल से बाहर आते ही शहाबुद्दीन ने अपने तेवर को दिखाते हुए लोगों के बीच कहा कि लालू यादव मेरे नेता है, नितीश तो परिस्थिति वश बिहार के मुख्यमंत्री है। वही शहाबुद्दीन ने कहा कि वो अपने रूप में कोई बदलाव नहीं करेंगे। शहाबुद्दीन के इस बयान के बाद सियासी हलचल मच गई। shahbuddin will go jail 

कल बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने कहा कि सबको पता है कि कौन परिस्थिति वश नेता बना है। ये उनका व्यक्तित्व विचार है। हमें किसी को बताने की जरुरत नहीं है कि हम क्या है और कैसे है ? महागठबंधन के गठन के बाद सर्वसम्मिति से पार्टी ने मुझे नेता चुना है। shahbuddin will go jail 

आपको बता दें कि शहाबुद्दीन चर्चित राजेश रोशन मर्डर केस और अन्य कई मामलों में दोषी पाए जाने पर 11 साल से जेल में बंद थे। 11 साल की सजा के बाद शहाबुद्दीन बाहर आये है। उन्होंने कहा कि मैं 13 साल बाद अपने गांव वापस जा रहा हूँ।

राजनाथ सिंह ने सेना को दिया निर्देश पत्थरबाजों को गोलियों से भून डालों

वैसे एक बात तो जाहिर है कि लालू यादव ने बिहार में अपनी पैठ मजबूत करने की मुहीम तेज कर दी है। लालू यादव बिहार में नितीश कुमार के साथ दोहरी राजनीति कर रहे है। एक तरह उन्हें पीएम उम्मीदवार बता रहे है तो वही दूसरी तरफ बिहार में जंगलराज स्थापित करने के लिए अपने गुर्गो को जेल से बाहर करवा रहे है। shahbuddin will go jail 

ऐसे में बिहार के लिए ये दुर्भाग्य की बात है कि जो जंगल राज 2005 में समाप्त हुई थी वो जंगल राज 2015 में पुनः वापस आ गया है। अब तो बिहार का भविष्य बाहुबलियों के हाथ में होगा जो बिहार का फिर से बेडा गर्क करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगा।  shahbuddin will go jail 
( प्रवीण कुमार )




Web Statistics