सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को लगाई फटकार कहा खुद सुधरोगे या हम सुधारें




बीसीसीआई में चल रही धांधली को रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने लोढा समिति को बहाल किया था और इस समिति ने अपना रिपोर्ट तीन माह पूर्व सुप्रीम कोर्ट को सौपा था जिसमें लोढा समिति ने बीसीसीआई में व्यापक सुधार लाने की बात पर जोर दिया था किन्तु बीसीसीआई ने अब तक लोढा समिति पर अम्ल नहीं किया है और ना ही इस बाबत सुप्रीम कोर्ट से राय ली है। बीसीसीआई ने इस पर अम्ल करने के बजाय इस समिति के रिपोर्ट पर अंगुली उठाना शुरू कर दिया था। supreme court slams bcci 

इस मद्देनजर आज सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को कड़ी फटकार लगाई है, सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि खुद सुधरोगे या हम सुधारें। सुप्रीम कोर्ट का इस तरह का बयान देना जाहिर करता है कि बीसीसीआई कही न कही लोढा समिति के रिपोर्ट को अस्वीकृत कर रही है। supreme court slams bcci 

अनुराग ठाकुर को पद से बर्खास्त कर दिया जाना चाहिए

आपको बता दें कि लोढा समिति ने अपना रिपोर्ट दिया था कि एक व्यक्ति दो बार किसी एक पद पर नियुक्त न हो। जबकि एक राज्य से केवल एक टीम रणजी में खेले। जो भी राज्य रणजी लेवल पर नहीं है उनकी टीम बनाई जाए। खासकर, बिहार जैसे राज्य में भी क्रिकेट को बढ़ाया दिया जाए। supreme court slams bcci 

राज ठाकरे के डर से फवाद ने भारत छोड़ा

महाराष्ट्र, सौराष्ट्र आदि ऐसी टीम जो एक ही राज्य से उस पर प्रतिबंध लगना चाहिए। लोढा समिती को यदि बीसीसीआई अम्ल में लाती है तो बीसीसीआई में आमचुल परिवर्तन होगा और बीसीसीआई से किसी खास व्यक्ति का छत्र हट जाएगा। शायद, बीसीसीआई इसलिए लोढा समिति के नक्शेमकदम पर नहीं चलना चाहती है। supreme court slams bcci 

आज लोढा समिति ने कोर्ट से अनुरोध किया कि बीसीसीआई के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर को पद से बर्खास्त कर दिया जाना चाहिए क्योंकि उनकी वजह से बीसीसीआई लोढा समिति को लागु नहीं कर रही है।  supreme court slams bcci 
( प्रवीण कुमार )




Web Statistics