गिरफ्तारी के डर से मक्का में छुपा जाकिर




जाकिर नाईक का नाम जबसे ढाका बम ब्लास्ट में आया है, तबसे ही वह अपने छुपने की जगह तलाश रहा है। वह आज ही सऊदी अरब से आने वाला था लेकिन नहीं आया। वैसे अपने स्काइप के जरीये जो वह अपना प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले थे, उसे भी उन्होंने रद्द कर दिया है। उन्होंने कहा ये सब मीडिया की देन है। मैं अब मिडिया से कोई बात नहीं करना चाहता। zakir naik lives saudi arabia

ज्ञात हो बंग्लादेश की घटना घटने के बाद से ही जाकिर गायब हैं। खासकर जब से गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने यह कहा की जाकिर के दिए उपदेशों और भाषणों की जांच की जायेगी। इनके इस्लामिक फाउंडेशन को चंदा कहां कहां से आते हैं और उनको ये किस तरह से खर्च करते हैं।जाकिर नाईक भी अब क़ानून से छिप कर रहना चाहता है। zakir naik lives saudi arabia  

ढाका हमले से जुड़ रहे है दिग्विजय के तार

ज्ञात हो पीस ती वी के माध्यम से जो भाषण जाकिर नाईक दिया करता था। कहते हैं उसे बंद कर दिया गया है इस मामले में ढाका ने भी इस पीस चैनल को बंद कर दिया था,जिसे पुनः खोलने की भी खबर आ गई है। जहां तक भारत में भी इस चैनल को बैन करने की बात सामने आई थी।  zakir naik lives saudi arabia

बंग्लादेश की घटना घटने के बाद से ही जाकिर गायब हैं zakir naik lives saudi arabia  

जब सुचना एवं प्रसारण मंत्री से इस बाबत पूछा गया कि मामला क्या है? क्या सच मुच पीस चैनल को बैन किया गया है। इसके जबाब में सुचना एवं प्रसारण मंत्री बैंकया नायडू ने कहा की कई अन्य देशों ने इन्हें बैन किया है। भारत में तो उन्होंने इसके प्रसारण की कोई अनुमति ही नहीं ली है तो बैन करने का प्रश्न ही कहां उठता है। zakir naik lives saudi arabia  

अब एक प्रश्न ये उठता है की जाकिर नाईक का वह चैनल कैसे चलता था। जिसपर लोग उनके उपदेशों को सुनते थे। जब जाकिर सच्चे हैं तो पूर्व प्लान के अनुसार कैसे देश छोड़कर चले गए ? आदि आदि। उधर जाकिर का सूत्रों के द्वारा जो खबर आई है उसमें उन्होंने कहा है कि हमसे भारत सरकार की कोई जांच वाली बात नहीं है हम हरेक जांच में ख़ुशी से सहयोग देना चाहता हूँ। दरअसल यह एक भ्रमित करने वाला बयान है। इस पर कभी विश्वास नहीं करना चाहिए। zakir naik lives saudi arabia  
( हरि शंकर तिवारी )



Web Statistics