अंतर्राष्ट्रीय जादू महोत्स्व सम्पन्न international-magic-festival-in-delhi




नई दिल्ली, देश की राजधानी दिल्ली के संसद मार्ग में स्थित ऑडिटोरियम में त्रिदवसीय अंतर्राष्ट्रीय जादू महोत्सव का आयोजन किया गया। यह उत्सव 22 अप्रैल से 24 अप्रैल तक चला। इसका औपचारिक उद्घाटन  दुनिया के मशहूर जादू कला में निपुण कलाकार पी सी सरकार के द्वारा किया गया। इस महोत्सव में दुनिया भर से 252 कलाकार एक ही मंच पर अपने जादू कला को प्रस्तुत किया। जोकि एक रिकॉर्ड है। international-magic-festival

इससे पहले एक मंच पर इतने कलाकार एक साथ परफॉर्म नहीं किया है। जब कलाकारों ने एक साथ परफॉर्म करेंगे तो यह गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के पुराने रिकॉर्ड कोतोड़कर एक नया कीर्तमान स्थापित किया। अंतर्राष्टीय जादू महोत्सव के उद्घाटन समारोह के अवसर पर पी सी सरकार ने अपने विचार लोगों से साझा किया।उन्होंने कहा कि हमलोग जादूगर नहीं है।

यदि जादूगर होते तो हमें जादू दिखाने की जरुरत नहीं होती। हमलोग बैंक में इकट्ठा सारा पैसा गायब कर देते। किन्तु हमलोग सिर्फ कलाकार है। जो जादू दिखाता है। महान लेखकसेक्सपियर ने कहा है कि ये ज़िंदगी एक नाटक का मंच है और हमलोग सब इस मंच के कलाकार है। जिसको जो किरदार दिया गया है वो कर रहा है। उसी तरह हम जादू कला दिखाने वाले का जीवन है। international-magic-festival

इसी अवसर पर पी सी सरकार के सहयोगी खरबंदा ने कहा कि जादू हमारी समझ से परे है। हम हकीकत से हटकर कल्पना की दुनिया में सोचने लगते है। आपको लगता है कि जादू से बना हुआ भारतीय मुद्रा हकीकत है। किन्तु यह नोट कुछ समय पश्चात पुनः कागज हो जाएगा। अतः जादू एक मिथ्या है। अंतर्राष्ट्रीय जादू महोत्स्व में देश-दुनिया के लोगो के आलावा मीडिया पर्सन भी मौजूद थे। international-magic-festival



Web Statistics