जिले में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ, सीएस ने किया उदघाटन

  • घर-घर जाकर छोटे बच्चों को खिलाई जाएगी कृमि की दवा, स्कूली बच्चों को भी खिलाई जाएगी दवा
  • ऑगनबाड़ी बाड़ी सेविका और आशा कार्यकर्ताओं द्वारा कोविड प्रोटोकॉल का पालन के साथ खिलाई जाएगी दवा

लखीसराय, 16 सितंबर-

गुरुवार को जिले में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम का शुभारंभ हो गया। इस अभियान के तहत 01 वर्ष से 19 वर्ष तक के बच्चों को कृमि की दवा एल्बेंडाजोल खिलाई जाएगी। इस कार्यक्रम का उदघाटन जिला सिविल सर्जन पदाधिकारी डॉ देवेन्द्र चौधरी द्वारा मध्य विद्यालय हसनपुर के प्रांगण में विधिवत रूप से की गई। इस मौके पर जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ अशोक कुमार भारती, आईसीडीएस के प्रभारी जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (डीपीओ) सह लखीसराय सदर सीडीपीओ आभा कुमारी आदि मौजूद थे।

  • जिले के सभी प्रखंडों में कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ :
    जिला सिविल सर्जन डॉ देवेन्द्र चौधरी ने बताया, इस कार्यक्रम का जिले के सभी प्रखंडों में शुभारंभ किया गया। जिसमें माध्यम से 01 से 19 वर्ष तक के सभी बच्चों को कृमि की दवा एल्बेंडाजोल खिलाई जाएगी। इस दौरान इस बात का विशेष ख्याल रखा जाएगा कि एक भी बच्चा दवा खाने से छूटे नहीं। इसे सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी ऑगनबाड़ी सेविका एवं आशा कार्यकर्ता को दी गई है। साथ ही कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए जिले के सभी चिकित्सा पदाधिकारी को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। इस कार्यक्रम की सफलता को लेकर स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ आईसीडीएस एवं शिक्षा विभाग के कर्मियों को जिम्मेदारी दी गई है।
  • निर्धारित डोज के अनुसार खिलाई जाएगी दवा :
    जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ अशोक कुमार भारती ने बताया, निर्धारित डोज के अनुसार 01 से 19 वर्ष तक के बच्चों को दवा खिलाई जानी है। जिसमें 06 माह से 05 वर्ष तक के बच्चों को आधा टेबलेट एवं इसके अधिक आयु के बच्चों को एक टेबलेट खिलाया जाएगा। इसे सुनिश्चित करने करने को लेकर दवा खिलाने वाली टीम को आवश्यक निर्देश दिया गया है। वहीं, उन्होंने बताया, दवा खिलाने के दौरान कोविड प्रोटोकॉल के पालन का ख्याल रखा जाएगा।
  • घर-घर जाकर खिलाई जाएगी दवा :
    आईसीडीएस के प्रभारी जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सह लखीसराय सदर सीडीपीओ आभा कुमारी ने बताया, वर्तमान में ऑगनबाड़ी केंद्रों का विधिवत रूप संचालन नहीं हो रहा है। जिसके कारण जिले के सभी सेविकाओं को अपने-अपने पोषक क्षेत्र में गृह भेंट की तर्ज पर घर-घर जाकर बच्चों को दवा खिलाने का निर्देश दिया गया है। जबकि, स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को संबंधित विद्यालय के शिक्षक के सहयोग से दवा खिलाई जाएगी।
  • इन मानकों का करें पालन और कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर :
  • मास्क का उपयोग और शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें।
  • साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें और सेनेटाइजर का उपयोग करें।
  • विटामिन-सी युक्त पदार्थों का अधिक सेवन करें।
  • बारी आने पर निश्चित रूप से वैक्सीनेशन कराएं और दूसरों को भी प्रेरित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *