आज से हो रही है आषाढ़ नवरात्रि पूजा की शुरुआत, जानिए व्रत की कथा

मां शैलपुत्री, चैत्र नवरात्रे में प्रथम पूजा अर्थात पहले दिन की पूजा मां चंद्रघंटा के रूप में किया जाता है। माँ शैलपुत्री प्रथम दिन माँ शैलपुत्री की पूजा से नवरात्री दुर्गा पूजा की सुरुआत की जाती है। माँ शैलपुत्री पर्वत राज हिमालय की पुत्री के रूप में जानी जाती है। शैलपुत्री जिनके सिर आधा चाँद माता सुशोभित है और उनका सवारी नंदी है। gupt navratri

आज सुबह की ताज़ा ख़बरें | 3rd July 2019

द्व्तीय मां ब्रह्मचारिणी, चैत्र नवरात्रे में द्व्तीय को पूजा अर्थात दूसरे दिन की पूजा मां चंद्रघंटा के रूप में किया जाता है। देवी दुर्गा का दूसरा रूप ज्ञान की देवी ब्रह्मचारिणी के लिए नवरात्रे के दूसरे दिन की पूजा की जाती है। माँ ब्रह्मचारिणी के हाथ में पद्म (कमल फूल), रुद्राक्ष की माला, और कमंडल सुशोभित है और इन्हे ज्ञान की देवी मन गया है। gupt navratri

पूरी कथा और इतिहास पढ़ने के लिए क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *