गीता, उपनिषद से मुझे मिलती है शान्ति : सुहैब इलियासी



आजकल अक्सर देखने को मिलता है कि लोग धर्म के नाम पर एक-दूसरे को बांटने की कोशिशें करते रहते हैं. तमाम धर्मगुरु अपने-अपने धर्म की बड़ाई और प्रशंशा करते नहीं थकते हैं. वो अपने धर्म का प्रचार और उसकी खूबियाँ गिनाकर लोगों को अपने साथ जोड़ने की कोशिश करते हैं. लेकिन हिन्दू धर्म ने कभी भी खुद को प्रचारित और प्रसारित करने की कोशिश नहीं की. बावजूद इसके दुनिया की एक बड़ी आबादी इसी धर्म को मानती है और इसकी सभ्यताओं का पालन करती है. geeta upnishada gives peace

हाईकोर्ट कर चुका है बरी geeta upnishada gives peace

इसके पीछे मुख्य वजह यह मानी जाती है यह दुनिया का सबसे पुराना धर्म है. हिन्दू धर्म को धर्म कहना गलत होगा क्योंकि यह उससे भी बढ़कर है यह व्यक्ति को जीवन जीने की कला सिखाता है. शायद इसीलिए स्वामी विवेकानंद ने शिकागो विश्व धर्म सम्मेलन के दौरान कहा था कि हिन्दू धर्म वो धर्म है जिसने कभी किसी को निराश नहीं किया. जो भी इसकी शरण में आया हमने इसे स्वीकार किया. फिर वो किसी भी धर्म का क्यों न हो. geeta upnishada gives peace

अब यही बात सुहैब इलियासी भी कह रहे हैं. अपने जमाने के प्रसिद्ध एंकर और निर्माता सुहैब इलयासी धार्मिक तौर पर मुस्लिम हैं. सुहैब ने खुलासा किया है कि जेल में अपनी आत्मा और मन की शांति के लिए वह गीता और उपनिषद का पाठ करते थे. इसके पीछे मुख्य वजह इलियासी ने बताया कि गीता और उपनिषद से उन्हें शान्ति और पॉजिटिव एनर्जी मिलती थी. geeta upnishada gives peace

सबको कमाई, सबको पढ़ाई, सबको दवाई देना हमारा मुख्य लक्ष्य है : पीएम मोदी

अपनी की ह्त्या के आरोप में 2000 में इलियासी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी. जिसके खिलाफ इलियासी ने हाईकोर्ट में चुनौती दी थी जिसके बाद मामले की सुनवाई करते हुए हाल ही में हाईकोर्ट ने सारे सबूतों को को देखने के बाद इलियासी को बरी कर दिया था. geeta upnishada gives peace

बालों का झड़ना,डैंड्रफ,दोमुंहे और रूखे बालों का जबरदस्त नुस्खा