बच्चों की ज्यादा साफ-सफाई, यानी कैंसर को बुलावा

आज-कल के मां बाप अपने बच्चों को सूरक्षित रखने के लिए तमाम तरह के बंदोबस्त करते हैं, ताकि उनका बच्चा बीमार न हो जाए और अपनी इसी सतर्कता के चलते बच्चें को अगर थोडी सी धूल लग जाए तो उसे तुरंत नहला देते हैं. इसके अलावा बच्चों को तमाम तरह के कीटाणुओं से बचाने के लिए विभिन्न प्रकार के पदार्थों का सेवन भी करवाते. अगर आप भी इसी तरह रखते हैं तो आपको सावधान रहने की आवश्यकता है.

दरअसल, एक ताजा स्टडी में यह बात सामने आई है कि जिन बच्चों को बचपन में कीटाणुओं से दूर रखकर इन्फेक्शन से ज्यादा से ज्यादा बचाने की कोशिश की जाती है उन्हें आगे चलकर ल्यूकेमिया यानि कि ब्लड कैंसर का खतरा होता है. baby care tips health

बता दें कि, इसके पीछे वजह यह है कि अपने पहले साल में जो बच्चे इन्फेक्शंस का सामना करते हैं, उनका इम्यून सिस्टम मजबूत हो जाता है. नेचर रिव्यूज कैंसर नाम के जर्नल में छपी स्टडी के मुताबिक, अक्यूट लिम्फोब्लास्टिक ल्यूकेमिया, जो कि बच्चों का बहुत ही कॉमन कैंसर है. उसके लिए दो स्टेप जिम्मेदार होते हैं. baby care tips health

आखिर ऋतिक के दिल की बात जुबां पर आ ही गयी

पहला स्टेप जन्म लेने से पहले जेनेटिक म्यूटेशन दूसरा बचपन में आगे चलकर कुछ इन्फेक्शंस जो कि बचपन में ज्यादा साफ-सुधरे रहने से होता है. क्योंकि बचपन में इसके लिए इम्यूनिटी डिवेलप नहीं हो पाती. उनमें लिम्फोब्लास्टिक ल्यूकेमिया होने की संभावना ज्यादा रहती है. यह एक ऐसा कैंसर है जो 0 से 4 साल के बच्चों में पाया जाता है.

गौरतलब है कि कुछ स्टडी के जरिए दावा किया गया है कि बचपन से बच्चों को स्वस्थ और खूबसूरत बनाए रखने की चाह में माता पिता चाहे-अनचाहे शरीर में स्वत: ही प्राकृतिक रूप से विकसित होंने वाले स्वास्थ्य वर्धक जीवाणुओं और रोग प्रतिरोधक क्षमताओं को नष्ट कर दिया जाता है. जिस कारण से समय के साथ बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने लगती है. इससे विभिन्न प्रकार की बीमारियां जन्म लेती है. baby care tips health

मात्र 20 मिनट में पाएं गोरा और चमकदार चेहरा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *