29 अगस्त 2018 को है कजरी तीज जानिए वर्त की कथा एवम इतिहास




धार्मिक ग्रंथों के अनुसार कजरी तीज पर्व भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाती है। तदनुसार इस वर्ष  29 अगस्त 2018 को कजरी तीज मनाई जाएगी। कजरी तीज को ‘हरितालिका तीज’ भी कहा जाता है। devotional kajari teej history

इस पर्व के एक दिन पूर्व अर्थात भाद्रपद की कृष्ण पक्ष की द्वितीया को रतजगा किया जाता है। महिलायें इस रात्रि में कजरी खेलती एवम गाती है। कजरी खेलना एवम गाना दो अलग-अलग विधि है। कजरी के गीतों में जीवन के विविध पहलु जैसे प्रेम, मिलान, विरह, सुख-दुःख आदि का समावेश होता है। devotional kajari teej history

कजरी तीज पर्व का स्वरूप devotional kajari teej history

कजरी तीज पर्व के कुछ दिन पूर्व से सुहागिन नदी-तालाब आदि से मिट्टी लाकर उस मिट्टी से एक पिंड बनाती है और उस पिंड में जौ के दाने बोती है। मिट्टी से बने इस पिंड में प्रतिदिन पानी डालती है। जिससे जौ के पौधे निकल आते है। अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें www.hindumythlogy.org

दिल्ली में श्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थि कलश यात्रा प्रारम्भ