शिमला बनेगा श्यामला!

योगी सरकार द्वारा मुगलसराय को दीनदयाल और इलाहाबाद को प्रयागराज करने के बाद अब हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला के नाम को बदलकर श्यामला करने की तैयारी तेज़ हो गई है. इस बात की पुष्टि दशहरा के अवसर सीएम द्वारा दिए गए बयान से होती है.

सीएम जयराम ठाकुर ने लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आजादी से पूर्व अंग्रेजों ने श्यामला को शिमला बना दिया क्योंकि वे श्यामला का उच्चारण नहीं कर पाते थे. इसलिए उन्होंने इनका नाम शिमला कर दिया था. लेकिन अब जबकि हम आजाद है तो अंगेजों के द्वारा शहर के नाम को बदलकर इसे पुनः उसी नाम से पुकारने का वक्त आ गया है.

हालांकि इसके लिए मैं शहर के लोगों से राय लूंगा. आपकी सहमति के बाद ही शहर का नाम बदला जायेगा. वहीँ इस बारे में विश्व हिन्दू परिषद् के प्रदेश अध्यक्ष अमनपुरी ने कहा कि गुलामी मानसिक शारीरिक और सांस्कृतिक हो सकती है. ऐसे में हमें किसी भी प्रकार की गुलामी में नहीं जीना चाहिए.

जबकि प्रदेश कांग्रेस ने इसका विरोध किया है. कांग्रेस कोर कमेटी के प्रदेश प्रवक्ता और महासचिव नरेश चौहान ने कहा कि सरकार जनता को विकास के मुद्दे से भटका रही है. नाम बदलने से कुछ नहीं होने वाला है बदलना है तो शहर कि दशा और दिशा को बदलें. जनता के भलाई के लिए काम करें उनका विकास करें.