कवि एंव पत्रकार लाल बिहारी लाल भी साहित्य रत्न से सम्मानित



चिरप्रतीक्षित-कथा कौमुदीकाव्य कलशसीप के मोतीऔर हास्य के रँगचारों साझा सँकलनोंजिसमें अलग-अलग प्रदेश सेसाहित्यकार जुड़े हैं,कालोकार्पण आर्य समाज मँदिर,जनकपुरी में किया गया। मुख्य अतिथि रिटायर्ड जज श्री जयभगवान शर्मा विख्यातगीतकार एवं पटकथा लेखक श्री प्रेम भारद्वाज, वरिष्ठ समाज सेवी श्री बी एसमक्कड़ अनुराधा प्रकाशन के संस्थापक श्री मनमोहन शर्मा शरण, समाज सेवी और अनुराधा प्रकाशन कीसंरक्षिका एवँ क्रिएटिव डायरेक्टर श्रीमति कविता मल्होत्रा द्वारा चारोंपुस्तकों का लोकार्पण किया। sahitya ratna mein lalbihari lal bhi samil hue

इस समारोहका कुशल मंच सँचालन हीरेन्द्र चौधरी ने किया।पूर्व जज साहब जय भगवान शर्मा ने मनमोहनशर्मा की सराहना करते हुए कहा कि साहित्य में उनके अनूठा योगदान सराहनीय है। साथही साथ उन्होने इस तरह के हिंदी सेवा केलिए बधाई भी दी। प्रेम भारद्वाज नेविश्वास और माँ के प्रति समर्पित रचनाएँ सुनाकर सबका मन मोह लिया। बी एस मक्कड कीउत्साहवर्धक प्रस्तुति ने तो सभागार में उपस्थित सभी को स्तब्ध कर दिया। sahitya ratna mein lalbihari lal bhi samil hue

अनुराधा प्रकाशन द्वाराप्रकाशित साझासंकलनों का लोकार्पण sahitya ratna mein lalbihari lal bhi samil hue

मनमोहनशर्मा जी ने चारों पुस्तकों पर प्रकाश डालते हुए साझा सँग्रहों से जुड़े सभीरचनाकारों को हार्दिक बधाई दी। कविता जी ने अपनी संवेदनशील शैली में किन्नरों के संवेदनशीलमुद्दे पर एक बेहद मर्मस्पर्शी रचना सुनाई।कविता जी ने सभी सहभागियों को उत्कृष्टलेखन की बधाई देते हुए कहा कि अनुराधा प्रकाशन मानव मूल्यों को समर्पित प्रकाशन हैजिसमें राजनीति की कोई जगह नहीं है। इस आयोजन में एक लघु काब्य गोष्ठी का भी आयोजनकिया गया जिसमें कंचन गुप्ता,हरि प्रकाश गुप्ता, कवि एवं पत्रकार लाल बिहारी लालने देश भक्ति से ओतप्रोत कविता हमारा हिन्दुस्तान पढ़ी जिसें लोगो ने काफी सराहागया। इस कड़ी को आगे ब़ढ़ाया जसवंत सिंह गुर्जर,दिनेश कुमार द्रोण आदी ने । sahitya ratna mein lalbihari lal bhi samil hue

अमेरिका की ईरान को धमकी, ईराक पर हमला हुआ तो अंजाम बुरा होगा

हाइकूसंकलन सीप के मोती के संपादकीय टीम में लाल बिहारी लाल भी सम्मिलत थे। इस कारण इन्हेंसाहित्य रत्न से अतिथि जय भगवान शर्मा द्वारा सम्मानित किया गया। काव्य गोष्ठी सेहोता हुआ सम्मान समारोह के बाद मनमोहन शर्मा ने आये हुए सभी अतिथियों एवं साहित्यप्रेमियों को हार्दिक बधाई दी। sahitya ratna mein lalbihari lal bhi samil hue

बदन में ऐंठन अकड़न और दर्द का आसान इलाज