अमरनाथ के बाद माछिल यात्रा को भी रोका गया

सुरक्षा के मौजूदा हालातों को देखते हुए जम्मू कश्मीर में अमरनाथ यात्रा का समय कम करने के बाद अब घाटी में किश्तवाड़ से माछिल के बीच आयोजित होने वाले पारंपरिक माछिल यात्रा को बंद करने का आदेश प्रशासन ने जारी किया है. बता दें कि किश्तवाड़ में चंडी माता के मंदिर को कश्मीर के एक पारंपरिक देवस्थान के रूप में जाना जाता है. amarnath yatra jammu kashmir

इसीलिए हर साल यहां पर दर्शन करने के लिए न सिर्फ प्रदेश बल्कि दूसरे राज्यों से भी बड़ी संख्या में लोग चंडी माता के दर्शन के लिए आते हैं. लेकिन कश्मीर के मौजूदा हालातों को देखते हुए किसी भी अनहोनी से निपटने के लिए राज्य सरकार ने इस पवित्र यात्रा को भी रोकने का आदेश दिया है. इससे पहले यह यात्रा 25 जुलाई को ही शुरु की गई थी.

मूसलाधार बारिश से पानी-पानी मुंबई, सड़कें नदी में तब्दील; घरों में भी भरा पानी

फिलहाल नया आदेश मिलने के बाद सभी तीर्थयात्रियों को वापस लौटने के निर्देश दिए गए हैं.  गौरतलब है कि हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और पंजाब जैसे कई राज्यों के लोग चंडी माता की उपासना करते हैं. यहां की मनोरम पोद्दार घाटियां अपनी खूबसूरती के लिए विख्यात हैं जो किसी का भी मन मोह लेती हैं. किश्तवाड़ से माछिल गांव जाने के लिए श्रद्धालुओं को 30 किलोमीटर की कठिन और दुर्गम यात्रा करना पड़ता है. लेकिन इस बार सुरक्षा के कारणों के कारण सरकार ने इस यात्रा को तत्काल प्रभाव से रोक दिया है. amarnath yatra jammu kashmir

खास बात यह है कि पिछले एक हफ्ते में केंद्र सरकार ने 38,000 हजार जवानों को कश्मीर में तैनात किया है जिसके कारण यहां पर राजनीतिक तनाव अपने चरम पर है. राज्य के राजनीतिक दल बार-बार यह कहकर लोगों में दहशत और डर का महौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं कि केंद्र सरकार जम्मू कश्मीर से 35ए और 370 को हटाने की तैयारी कर रही है हालांकि केंद्र यही कह रहा है कि इतनी बड़ी मात्रा में सुरक्षाबलों को आतंकी घटनाओं के खतरे को देखते हुए की गई हैं.

अर्जुन के छाल ने किया सबसे बड़ा कमाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *