संसद में बोले शाह : घुसपैठियों से एक- एक जमीन वापस लेंगे

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में एक तीखा बयान देते हुए कहा कि अवैध तरीके से रह रहे शरणार्थियों को बाहर का रास्ता दिखा देना चाहिए. इसके बाद उन्होंने कहा की देश की इंच-इंच जमीन पर जितने भी घुसपैठिए रह रहे हैं, हम उनकी पहचान करके अंतरराष्ट्रीय कानून के आधार पर उन्हें बाहर करेगें. amit shah sansad

आपको बता दें कि, अमित शाह ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान एक पूरक प्रश्न के जवाब में यह बात कही. उन्होंने राष्ट्रीय नागरिकता पंजी की चर्चा करते हुए कहा कि यह असम समझौते का हिस्सा है, इस मुद्दे को अहम माना जाए.

गवर्नमेंट सेक्टर में निकली बम्पर नौकरियां | 18th July 2019

नित्यानंद राय ने कहा कि एनआरसी को लागू करने में सरकार की मंशा बिल्कुल साफ है. राय के मुताबिक, राष्ट्रपति और सरकार के पास 25 लाख से अधिक ऐसे आवेदन मिले हैं, जिनमें यह कहा गया कि कुछ भारतीयों को भारत का नागरिक नहीं माना गया है जबकि एनआरसी में कुछ ऐसे नागरिकों को भारतीय मान लिया गया है, जो बाहर से आये हैं.

उन्होंने कहा कि सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध किया है कि इन आवेदनों पर विचार करने के लिए सरकार को थोड़ा समय दिया जाए. राय ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के अनुसार, असम में एनआरसी को 31 जुलाई 2019 तक प्रकाशित किया जाना है. amit shah sansad

बता दें कि लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा नेता अमित शाह ने असम के लखीमपुर में चुनावी रैली को संबोधित किया था. इस दौरान उन्होंने एनआरसी बिल पर कहा था कि हम असम को देश का दूसरा कश्मीर नहीं बनने देना चाहते हैं. मोदी सरकार एनआरसी इसीलिए लाई है.

झरते बालों को फिर से उगाना है तो इसे खाएं या लगाएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *