राजद्रोह, अनुच्छेद 370 जैसे वादों ने हमे हराया: आनंद शर्मा

लोकसभा चुनावों में भाजपा के हाथों मिली करारी हार और पार्टी को हर मोर्चे पर मिली करारी हार के बाद अब लगता हैं कांग्रेसियों की आंखे खुलनी शुरु हो गई हैं और उन्हें उनकी गलतियों का अहसास भी होना भी शुरू हो गया है. इसका पता कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्य सभा सदस्य आनंद शर्मा के बयानों से चलता हैं जिसमें उन्होंने स्वीकार किया है कि कई कमियों और गलतियों की वजह लोकसभा में पार्टी की इस प्रकार की दुर्गति हुई है.

उन्होंने चुनाव में कांग्रेस के द्वारा की गई कुछ कमियों को गिनाते हुए कहा कि अफस्पा और राजद्रोह कानून को खत्म करने व 370 अनुच्छेद पर पार्टी के स्टैण्ड क्लिय़र नहीं करना चुनावों के दौरान हमें भारी पड़ गया. इसी की वजह से सबसे ज्यादा पार्टी को नुकसान भी उठाना पड़ा. शर्मा ने इस बात को भी स्वीकार किया कि पार्टी के घोषणापत्र में कश्मीर से सेना की तैनाती को कम करने की मांग को शामिल करना उन्हें मंहगा पड़ा. anand sharma

दूध के साथ कभी नमक या बैंगन तो नहीं खाया

इसके अलावा उन्होंने कहा कि पुलावामा हमले के बाद बालाकोट एयर स्ट्राइक को भाजपा ने राष्ट्रवाद का नारा देकर काफी अच्छे तरीके से भुनाया लेकिन हमारी पार्टी इस नरेटिव का संतुलन नहीं बना सकी. शर्मा ने पार्टी के संकट में होंने की बात को स्वीकार करते हुए कहा कि हमने कभी नहीं सोचा था कि हमारी इतनी बड़ी हार होगी. लेकिन अब इस बात का समय आ गया है कि हमें इस मुद्दे पर इमानदारी पूर्वक आत्म निरीक्षण करना चाहिए. anand sharma

बता दें कि लोकसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस की कैंपेंनिंग कमीटी के सदस्य रहे आनंद शर्मा कांग्रेस की न्याय योजना को लेकर कहते हैं कि यह योजना हम काफी देर से लेकर आए थे जिसक कारण से पार्टी को इसका लाभ नहीं मिल सका जबकि पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों पैसा मिलना भी शुरु हो गया था. ऐसे में देश का किसान भाजपा की तरफ चला गया. शर्मा आगे कहते हैं कि संगठनात्मक स्तर उनकी पार्टी ऐन समय पर बिखर गई थी जिसका फायदा बीजेपी ने उठाया. anand sharma

इंडिगो ने टिकट कैंसलेशन पर बढ़ाया चार्ज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *