चिदंबरम के बोल, अगर जम्मू कश्मीर में हिंदू होते तो भाजपा 370 नहीं हटाती

“खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे”, यह कहावत आज कांग्रेस पर आज चरितार्थ हो रही है जी हां ये बात हम इसलिए कह रहे हैं कि लोकसभा चुनावों में भाजपा के हाथों मिली करारी शिकस्त से कांग्रेस अभी सही तरीके से उबरी भी नहीं थी कि मोदी सरकार ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रवाधानों को निरस्त कर कांग्रेस को एक और बड़ा झटका दे दिया. जिसे कांग्रेसी पचा नहीं पा रहे हैं और कुछ भी बयान दे रहे हैं. article 370 P chidambaram

इस कड़ी में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पूर्व केन्द्रीय गृहमंत्री और कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने हिंदू-मुस्लिम कार्ड खेलते हुए कहा कि भाजपा ने अपनी ताकत का बेजा इस्तेमाल कर 370 को हटाया है और कहीं अगर जम्मू-कश्मीर हिंदू बहुल राज्य होता तो ये पार्टी विशेष राज्य का दर्जा ‘नहीं छीनती.’

दूध की चाय छोड़ ब्लैक टी पी तो, मिली इन बीमारियों से मुक्ति

चिदंबरम ने एआईएडीएमके, वाईएसआरसीपी, टीआरएस, बीजेडी, आप, टीएमसी और जेडीयू को डरपोक बताते हुए कहा कि अगर इन सभी क्षेत्रीय दलों ने सहयोग किया होता तो विपक्ष राज्यसभा में बहुमत में होता लेकिन इन सभी ने भाजपा के डर के कारण वाकआउट कर भाजपा का साथ दिया. article 370 P chidambaram

इतना ही नहीं चिदंबरम घाटी के हालातों को छुपाने का आरोप लगाते हुए कहते हैं कि आज घाटी से स्थिरता पूरी तरह से खत्म हो चुकी है लेकिन भारतीय मीडिया इन खबरों को दुनिया से छुपा रही है जबकि विदेशी मीडिया इस बात को दिखा रही है. चिदंबरम कहते हैं कि भाजपा कहती है कि कश्मीर में सब कुछ ठी है लेकिन जब इंडियन मीडिया इन खबरों को दिखाएगी ही नहीं तो दुनिया को तो यही लगेगा कि सब कुछ ठीक है.

370 : आपस में भिड़े उमर- महबूबा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *