पहली बार हाईकोर्ट के जज पर केस दर्ज करेगी सीबीआई

भारत के इतिहास में आज पहली बार हो रहा है कि देश के किसी हाईकोर्ट के जज के खिलाफ ही मुकदमा दर्ज किया गया हो. भारत में तो ऐसा होना बड़ा ही मुश्किल है, लेकिन ये सच है कि इस बार एक न्यायधीश पर केस दर्ज होने जा रहा है. दरअसल इलाहाबाद हाईकोर्ट के जज एसएन शुक्ला के खिलाफ 2017 के एक मामले में सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश रंजन गोगोई ने सीबीआई को केस दर्ज करने की अनुमति दे दिया है.

अपने अप्रत्याशित फैसले में सीजेआई ने केंद्रीय जांच एजेंसी को भ्रस्टाचार निरोधी कानून के तहत हाईकोर्ट के जज एसएन शुक्ला पर एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है. उन आरोप है कि उन्होंने सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों का उल्लंघन करते हुए एमबीबीएस पाठ्यक्रम में दाखिले के लिए कथित तौर पर प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों को बढ़ावा दिया था. CBI high court

मध्य प्रदेश: वाह रे नाथ! किसानों का पैसा व्यापारियों को दे दिया

गौरतलब है कि यह मामला 2017 में उस वक्त सामने आया था जब उत्तर प्रदेश के महाधिवक्ता राघवेंद्र सिंह की शिकायत पर पूर्व सीजेआई जस्टिस दीपत मिश्रा ने एक आंतरिक कमीटी का गठन कर इस मामले की जांच करने का आदेश दिया था कि क्या वाकई में शुक्ला ने प्राइवेट मेडिकल कालेजों में एडमिशन की समयसीमा को बढा दिया था. CBI high court

इतना ही नहीं इस मामले में पिछले महीने ही मौजूदा मुख्य न्यायधीश रंजन गोगोई ने मोदी सरकार को पत्र लिखकर जस्टिस के खिलाफ महाभियोग लाकर उन्हे हटाने की मांग किया था. खास बात यह है कि जस्टिस शुक्ला सर्वोच्च न्यायालय की आंतरिक जांच में दोषी पाए गए थे.

चेहरे के छिद्रों ओपन पोर को ख़तम करने के रामबाण उपाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *