अपनी नई मोहब्बत के जरिए भारत को दुश्मन बता रहे फवाद चौधरी

भारत और पाकिस्तान के बीच दुश्मनी जग-जाहिर है हालांकि दोनों देशों के बीच यह दुश्मनी सीमा विवाद को लेकर है और पाक द्वारा आतंकवाद के जरिए भारत में फैलाई जा रही अशांति के कारण है. बावजूद इसके भारत ने हमेशा दोनों देशों के बीच शांति का पक्ष लिया. लेकिन यह दुश्मनी चाहे-अनचाहे सामने आ ही जाती है. ऐसा ही नजारा दोनों देशों के बीच जब भी कोई खेल होता है तब देखने को मिलता है.

ताजा मामला क्रिकेट विश्व कप से जुड़ा हुआ है जहां बुधवार को खेले गए विश्व कप सेमीफाइल के रोमांचक मुकाबले में न्यूजीलैण्ड ने भारत को 18 रनों के अंतर से मात देकर विश्व कप के फाइनल में प्रवेश किया जिस पर पाकिस्तान के सूचना एवं प्रसारण मंत्री फवाद चौधरी ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अब से पाकिस्तानियों की नई मोहब्बत न्यूजीलैण्ड है.

जनसंख्या विस्फोट की स्थिति में भारत, तेजी से बढ़ी आबादी

फवाद चौधरी का मोहब्बत वाला यह बयान देखने में तो सीधा और सरल लगता है लेकिन इस बयान के जरिए वह दोनों देशों के बीच की तल्खी को उजागर कर रहे हैं. उनके इस बयान से यह बात साफ होती है कि भारत कितना भी दोस्ती और भाईचारे का हाथ बढाए लेकिन पाकिस्तानी नेताओं के मन में भारत के प्रति दुश्मनी और नफरत का जहर इस कदर भरा हुआ है कि खेल भावना और नैतिकता जैसी चीजें काफी छोटी पड़ जाती हैं.

हालांकि यह कोई पहली बार नहीं है जब फवाद चौधरी ने नफरत वाला बयान देकर बवाल खड़ा किया हो. इससे पहले भी वह कई बार फुलवामा जैसे मौकों पर भारत के खिलाफ बयान देते रहें हैं. इतना ही नहीं पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वकार यूनुस ने भी भारत की हार पर तंज कसते हुए कहा है कि ‘यह क्रिकेट बेहद क्रूर खेल है सबको बराबर कर देता है. जब आपको अंदाजा भी नहीं होता तब यह आपको पटक देता है. वकार इससे पहले भी भारत पर निशाना साध चुके हैं. उन्होंने भारत पर इंग्लैण्ड से जानबूझकर हारने का आरोप लगाते हुए कहा था कि भारत, पाकिस्तान को विश्व कप से बाहर करने के लिए इंग्लैण्ड से हारा था.

यह फूल पिम्पल्स और मुँहासे करेगा दूर

पाकिस्तानियों की इस तरह की प्रतिक्रियाओं से यह बात जाहिर होती है कि पाकिस्तान खेल को भी दोनों देशों के बीच पैदा हुई तकरार के रूप में देखता है. भारत की हार से पाकिस्तान इस  तरह से खुश जितना कि वह विश्व कप से बाहर होंने के कारण दु:खी नहीं रहा होगा.   

-कुलदीप सिंह 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *