ब्रेन वाश करने में माहिर था आतंकी मन्नान वानी



कहा जाता है कि जब एक काबिल आदमी गलत रास्ता अख्तियार कर ले तो वह बेहद खतरनाक होता है बजाय उसके जो खतरनाक है. ऐसा ही कुछ कश्मीर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेंड में मारे आतंकी मन्नान वानी का है मन्नान वाणी उच्च शिक्षा प्राप्त स्कालर था. वह अलीगढ मुस्लिम विश्विद्यालय से पीएचडी कर रहा था. उसकी वहाबी विचारों पर अच्छी पकड़ थी. ऐसे में वह लोगों के दिलो दिमाग को बरगलाने में बेहद माहिर था जिससे वह बेहद खतरनाक हो गया था. Manan Wani specializes brain washing

वहाबी विचारधारा पर अच्छी पकड़ रखता था वानी Manan Wani specializes brain washing

मन्नान वाणी के आतंकी बनने की शुरुआत उस वक्त हुई जब वह अचानक से अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से गायब हो गया. और फिर कई दिनों बाद वह सोशल मीडिया पर गन के साथ नजर आता है. उसके सगे संबंधियों को और दोस्तों को यह समझते देर नहीं लगी कि मन्नान वानी आतंक की राह पर निकल पड़ा है. उन्होंने उसे वापस बुलाने की लाख कोशिशें की लेकिन उसके सिर पर जिहाद और आजादी का भूत सवार था. Manan Wani specializes brain washing

आतंक के खेल में शामिल हो रहे कश्मीरी युवा Manan Wani specializes brain washing

हैरत की बात यह थी कि मन्नान वानी जैसे उच्च शिक्षा प्राप्त नौजवान ने आतंक का रास्ता चुन लिया था. वानी लगातार अपनी क्षमताओं और योग्यताओं इस्तेमाल घाटी के युवाओं को आतंक की भट्टी में झोकने के लिए कर रहा था. वानी का एनकाउंटर करने के बाद सेना के एक अधिकारी ने बताया कि उसकी पकड़ वहाबी विचारधारा में अच्छी थी और इसका इस्तेमाल वह आतंक के लिए करता था ऐसे में वह लोगों को आतंकी बनाने की मशीन सा बन गया था. वानी ज्यादा पढ़ा-लिखा होने के कारण कथित आजादी को लोगों के सामने सही ठहराने में कामयाब हो जाता था. ऐसे में सीधे तौर पर हमलों में शामिल उन आतंकियों से ज्यादा खतरनाक हो गया था. Manan Wani specializes brain washin

सबको कमाई, सबको पढ़ाई, सबको दवाई देना हमारा मुख्य लक्ष्य है : पीएम मोदी

एक तरफ सेना आपरेशन आल आउट के तहत धरती के जन्नत कश्मीर को आतंक के जहर से मुक्ति दिलाने की कोशिश कर रही है तो दूसरी तरफ सेना की लाख कोशिशों के बावजूद घाटी के युवा आतंक के इस खूनी खेल में शामिल हो रहे हैं. जानकारों की माने तो इसके पीछे मुख्य वजह अलगाववादियों द्वारा ब्रेन वाश करना, और घाटी में रोजगार की समस्या है. हालांकि सेना की ओर से आतंकियों के सफाए के साथ-साथ कश्मीरियों को रोजगार और अपनापन जताने की कोशिश की जा रही है. एक रिपोर्ट के मुताबिक़ अब तक 130 से अधिक युवाओं ने आतंक का दामन थाम लिया है. जो बेहद खतरनाक है. Manan Wani specializes brain washing  

बालों का झड़ना,डैंड्रफ,दोमुंहे और रूखे बालों का जबरदस्त नुस्खा