कश्मीरियों के प्यार को जीतने में नाकाम रहा केन्द्र : महबूबा मुफ्ती

जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों की भारी तैनाती के बाद राज्य में कई तरह की अफवाहें फैल रही है. कोई सुरक्षाबलों की तैनाती को जम्मू कश्मीर में 35ए और धारा 370 को हटाने की बात से जोड़ रहा है तो वहीं कोई लोग इसे राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारी से भी जोड़कर देख भी रहे है. इन सब के बीच जम्मू कश्मीर में तरह-तरह की अफवाहें फेल रही है. mehbooba mufti jammu kashmir

जबकि केन्द्र सरकार ने इन अटकलों-अफवाहों को खारिज करते हुए इस सुरक्षा से जुडा़ मामला बताया है. वहीं शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे के संबंध और घाटी में बढ़ती अटकलों के बीच कहा है की, ‘अब मामला आर-पार का हो चुका है और भारत ने जनता के बजाय जमीन को तरजीह दी है.’

अमरनाथ के बाद माछिल यात्रा को भी रोका गया

इसके साथ महबूबा मुफ्ती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की कि वह राज्य के विशेष दर्जे के साथ छेड़छाड़ ना करें. आगे महबूबा मुफ्ती ने कहा की ‘‘आप एकमात्र मुस्लिम बहुल राज्य के प्यार को जीतने में नाकाम रहे, जिसने धार्मिक आधार पर विभेद को खारिज किया और धर्मनिरपेक्ष भारत को चुना. mehbooba mufti jammu kashmir

महबूबा ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम और अपने पिता मोहम्मद सईद का जिक्र करते हुए कहा कि (मोहम्मद सईद) साहब हमेशा कहा करते थे कि कश्मीरियों को जो कुछ भी मिलेगा वह उनके अपने देश भारत से मिलेगा. लेकिन आज ऐसा लगता है कि अपनी विशिष्ट पहचान की रक्षा के लिये उनके पास जो कुछ भी बचा था, यही देश उनसे वह बलपूर्वक छीनने की तैयारी कर रहा है.

कच्चा केला खाने के बाद जो हुआ जानकर हैरान हो जायेगे आप

साथ ही महूबबा ने इंसानियत, जम्हूरियत, कश्मीरियत के बारे में कहा कि “इंसानियत, जम्हूरियत, कश्मीरियत के बारे में बात करके कश्मीर के लोगों का दिलों-दिमाग जीतना चाहते हैं तो ऐसा माहौल क्यों बनाया जा रहा है जहां लोगों को लग रहा है कि उनकी पहचान खतरे में है.”

आपको बतादें कि, महबूबा मुफ्ती ने अंत में कहा कि वह इस मुद्दे पर सहमति बनाने के लिए घाटी में अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं से मुलाकात करेंगी और एकजुट होकर लड़ाई लड़ेंगी. गौरतलब है कि नेशनल कॉन्फ्रेंस को छोड़कर सभी दलों के नेताओं ने शुक्रवार की रात राजभवन पहुंचकर सरकारी आदेशों को लेकर उत्पन्न अफरातफरी के माहौल तथा लोगों की चिंताओं की जानकारी दी जहां जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने नेताओं को आश्वस्त किया कि वे शांति बनाए रखें. mehbooba mufti jammu kashmir

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *