मोदी का जोश, तो प्रियंका भी छाई

नईदिल्ली-

उत्तर प्रदेश में छठा चरण काफी महत्वपूर्ण है, पश्चिमी से शुरू हुई सियासी बयार अब पूर्वांचल तक पहुंच गई है। मोदी का जोश हैं तो प्रियंका भी छाई हुई हैं। 12 मई को छठा चरण समाप्त होते ही यूपी में 67 सीटों पर मतदान सम्पन्न हो जाएगा। इसके बाद मात्र 13 सीटों पर चुनाव रह जाएगा। इस चरण में सबसे बड़ी चुनौती भाजपा के लिए है। 12 मई को जिन 14 सीटों पर चुनाव होने हैं, उनमें से आजमगढ़ को छोड़ बाकी सभी पर भाजपा और उसके गठबंधन का कब्जा है। सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, फूलपुर, इलाहाबाद, अंबेडकरनगर, श्रावस्ती, डुमरियागंज, बस्ती, संतकबीरनगर, लालगंज, आजमगढ़, जौनपुर, मछलीशहर, भदोही, संसदीय इलाके में चुनाव हैं।

दरअसल इस बार सपा−बसपा के साथ आने से भाजपा के लिए मुकाबला इतना आसान नहीं दिख रहा है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा उनकी पार्टी जीत के लिए कम भाजपा को हराने के लिए वोटकटुआ बनने को बेताब है। साफ है कि इन सीटों पर जातीय समीकरण हावी है। ऐसे में यह देखना दिलचस्प है कि पलड़ा किसका है भारी। कांग्रेस की तरफ से पूर्वांचल की लोकसभा सीटों की जिम्मेदारी प्रियंका वाड्रा संभाले हुए हैं।  उन्होंने जो मेहनत की है उसका परिणाम भी सामने आएगा। जनता उन्हें अपनाई है या नकारी है यह साफ होगा। खास बात यह है कि पूर्वांचल में मोदी का भी क्षेत्र है वह है वाराणसी लेकिन यह अंतिम चरण का चुनाव है। अब देखना है कि प्रिंयका गांधी कितना कामयाब होती हैं या मोदी अब भी हैं सब पर भारी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *