कांग्रेस नेताओं के परिवारवाद ने हराया: राहुल गांधी

लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस की करारी हार के बाद कांग्रेस पार्टी में तनातनी का माहौल बना हुआ है .वहीं कांग्रेस चीफ राहुल गाँधी ने पार्टी की हार की वजह खुद को बताते हुए इस्तीफा देने की पेशकस किया था लेकिन कांग्रेस नेताओ ने उनके इस्तीफे को नामंजूर कर दिया है.

भानु सप्तमी : कथा और इतिहास

राहुल गांधी की बहन और पार्टी की महासचिव प्रियंका गाँधी ने राहुल गाँधी को इस्तीफा नहीं देने के लिए समझाते हुए कहा है कि अगर वो इस्तीफा देते है तो भाजपा के बिछाए जाल में फंस जायेंगे जिससे बीजेपी अपने मकसद में कामयाब हो जाएगी. इस बीच पार्टी के सभी नेताओं ने एक सुर में पार्टी अध्यक्ष राहुल के इस्तीफे की जिद को गलत ठहराया है.

वहीं इस हार पर कांग्रेस चीफ राहुल गाँधी ने अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं  पर अपनी भड़ास निकालते हुए पार्टी के विरष्ठ नेताओं पी चिदंबरम, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत और एमपी  के सीएम पर अपने बेटों को टिकट दिलवाने के लिए पार्टी को ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया और कहा कि इन नेताओं ने अपने बेटों के हितों को पार्टी हित से ऊपर रखा.

कंप्यूटर की तरह तेज बनाये अपना दिमाग

राहुल गांधी ने पार्टी नेताओं लोकसभा चुनावों के दौरान गंभीर नहीं होने का आरोप भी लगाया है. उन्होंने कहा कि चुनावी कैम्पेंन के दौरान हमारे नेतोओं ने भाजपा ओर मोदी के खिलाफ एक मजबूत राय बनाने में नाकाम रहे जो हार की मुख्य वजह रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *