10.8 C
New Delhi
18/02/2019
Mobilenews24 | Hindi News, Latest News in Hindi,
RBI cuts repo rate by 0.25 percent
राष्ट्रीय

रिजर्व बैंक ने रेपो रेट 0.25 प्रतिशत घटाया, ब्याज दरें होंगी कम

लोकसभा चुनावों से पहले रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने लोगों को राहत देने की दिशा में बड़ा कदम उठाते हुए रेपो रेट में 0.25 फीसदी की कटौती किया है जिससे अब रेपो रेट 6.50 से घटकर 6.25 फीसदी रह गया है. जिसको लेकर बाजार विशेषज्ञों का मानना है कि इससे मंहगाई सहित लोगों की ईएमआई पर पड़ने वाला एक्स्ट्रा वजन कम हो जाएगा यानि अब ईएमआई की दरें कम हो जायेगी.RBI cuts repo rate by 0.25 percent

भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति एमपीसी की 6 सदस्यीय समिति ने 4:2 के रेशियो से रेपो रेट में कटौती का निर्णय लिया. मतलब ये कि रेपो रेट को कम करने के लिए 4 सदस्य तैयार थे तो वहीँ दो सदस्य इसके खिलाफ थे और ख़ास बात यह है कि जो दो लोग रिजर्व बैंक के इस फैसले के खिलाफ़ थे उनमें से से एक रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य और दूसरे अर्थशास्त्री चेतन घाटे थे.

मोदी सरकार का एलान : 31 मार्च तक किसानों को मिलेगे 2000 रुपये

गौरतलब है कि विरल ही वह अर्थशास्त्री थे जिन्होंने पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल के साथ सरकार के मतभेदों को लेकर सरकार पर कई सारे गंभीर आरोप लगाये थे. हालांकि उनकी आशंकाएं निर्मूल ही निकली. फिलहाल बता दें कि रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता में हुई एमपीसी की बैठक में समिति ने उम्मीदों के विपरीत फैसला लेते हुए केन्द्रीय बैंक की “नपी-तुली कठोरता” वाली पालिसी को बदलकर उसे तटस्थ कर दिया है.RBI cuts repo rate by 0.25 percent

इसके साथ ही माना जा रहा है कि रिजर्व बैंक अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों के कारण राजकोषीय घाटे की चुनौतियों के बीच नीतिगत दरों में बदलाव नहीं करने की तरफ इशारा किया है. यहाँ यह बता दें कि यह रिजर्व बैंक की चालू वित्तवर्ष की छठी और आखिरी मौद्रिक नीति समीक्षा है जिसमें केन्द्रीय बैंक ने रेपो रेट को घटा दिया है.

भूषण कुमार की बैक टू बैक फिल्में जीतेंगी आपका दिल

जबकि इससे पहले की दो अन्य समीक्षाओं में बैंक ने रेपो रेट की दरों में 0.25 का इजाफा ही किया है. बहरहाल रिजर्व बैंक ने रेपो रेट में 0.25 की कटौती का निर्णय लिया है इसको लेकर जानकारों का मानना है कि इससे लोगों की जेबों का भार निश्चित तौर पर कुछ हल्का होगा और उन्हें अब अपनी ईएमआई जैसे कार्यों के लिए कम खर्च करना पडेगा.RBI cuts repo rate by percent

स्वप्नदोष,नाईट फॉल और दुबलेपन का इलाज

Related posts

जानिए क्या है GST और क्या है इसके फायदे !

admin

“रेस 3” के साथ रिलीज होगा “लवरात्रि” का टीज़र!

admin

दिनभर की फटाफट 30 बड़ी ख़बरें breaking news 11th february

admin