अलगाववादियों की पोल खोलने शाह ने बनाया प्लान

धरती का स्वर्ग कहे जाने वाले कश्मीर की खूबसूरत वादियों में अलगाववाद और पत्थरबाजी की घटनाओं को बढ़ावा देकर युवाओं को उनके रास्ते से भटकाने वाले अलगाववादी नेताओं को बेनकाब करने की योजना पर गृहमंत्री अमित शाह  ने काम करना शुरु कर दिया है. जिसके तहत गृहमंत्रालय कश्मीरी युवाओं को बरगलाकर और उन्हें लालच देकर उनकी जिंदगी को मौत के दलदल में ढकेलने वाले अलगाववादी नेताओं के परिवार की सच्चाई को दुनिया के सामने रखने का काम कर रही है. separatist amit shah jammu kashmir

दरअसल कश्मीरियों को जन्नत और कुर्बानी का लालच देने वाले इन अलगाववादियों की काली सच्चाई से तो कश्मीर का उच्च वर्ग पहले से ही परिचित है लेकिन अब उनकी सच्चाई के तथ्यों को सरकार आमजन में बड़े पैमाने पर प्रचारित करने जा रही है. बता दें कि हाल ही में गृहमंत्री अमित शाह के दौरे के दौरान अलगाववादियों के पोल-खोल योजना का खाका तैयार किया गया है.

बजट से पहले शेयर बाजार में उछाल, सेंसेक्‍स पहुँचा 40 हजार

खास बात यह है कि जो अलगाववादी नेता कश्मीरियों की बेरोजगारी और लाचारी का फायदा उठाते हैं उन्हें 500-500 रुपयों का लालच देकर सेना पर पत्थर फिकवाते हैं उनके खुद के बच्चे विदेशों में एशो आराम की जिंदगी जीते हैं, अच्छी शिक्षा का लाभ उठाते हैं. प्राप्त जानकारी के मुताबिक घाटी में स्कूली बच्चों से पत्थरबाजी कराने, आतंकियों के मारे जाने पर स्कूलों को जलवाने और हड़ताल कर स्कूल बंद कराने वाले अलगाववादी खुद अपने बच्चों को विदेश में पढ़ाते हैं. और हुर्रियत नेताओं समेत घाटी के 112 अलगाववादी नेताओं व उनसे सहानुभूति रखने वाले लोगों के कम से कम 220 बच्चे विदेश में पढ़ते या रहते हैं. separatist amit shah jammu kashmir

गौरतलब है कि अपने इसी प्लान के तहत पिछले दिनों गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन के विस्तार के मुद्दे पर उन्होंने संसद में 130 हुर्रियत नेताओं की डीटेल को पेश किया था. गृह मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक जमात ए इस्लामी के सदर गुलाम मुहम्मद का बेटा सउदी अरब में डॉक्टर है, तहरीक-ए-हुर्रियत के चेयरमैन अशरफ सेहराई के 2 बेटे खालिद और आबिद अशरफ भी सऊदी अरब में ही रहते हैं, दुख्तरान-ए-मिल्लत की आसिया अंद्राबी के 2 बेटे विदेश में पढ़ते हैं इसी प्रकार से सैयद अली शाह गिलानी के बेटे नीलम गिलानी ने हाल ही में पाकिस्तान में एमबीबीएस कोर्स पूरा किया है.

वहीं बिलाल लोन के बेटी और दामाद लंदन में रहते हैं और उनकी बेटी ऑस्ट्रेलिया में पढ़ाई करती है. जबकि हुर्रियत नेता मीरवाइज उमर फारूक की बहन राबिया डॉक्टर है और अमेरिका में रहती है. separatist amit shah jammu kashmir

जानिए मात्र 4 घंटे में कोलेस्ट्रॉल कम कैसे करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *