कश्मीर मेरा है किसी के बाप की जागीर नहीं है :शहला रशीद

जेनयू छात्र संघ की पूर्व कार्यकर्ता शहला रशीद ने एक समाचार पत्र को दिए इंटरव्यू में कहा कि मैं कश्मीरी मुस्लिम हूँ और मुझे इंडिया को बदलना है और मेरी आवाज को कोई दवा नहीं सकता है क्योंकि मेरे साथ लाखों कश्मीरी भाई और बहन खड़े है। जिससे मेरा मनोबल और बढ़ जाता है। मैं अपनी आवाज को यूँही बुलंद करती रहूंगी और मुस्लिम महिलाओं के हक के लिए लड़ती रहूंगी यही नहीं, मैं कश्मीर मामले में भी अपनी आवाज को पूरी दुनिया तक पहुचाउंगी। shehla rashid hit modi govt 

इसके साथ ही उन्होंने ( हँसते हुए ) कहा कि मोदी जी के कारण मैं पॉपुलर हुई हूँ क्योंकि मोदी जी के विरोध में कोई खड़ा नहीं है, बस स्टूडेंट ही है जो मोदी जी से अपने हक के लिए अपनी आवाज को बुलुंद किये हुए है। अगर में कश्मीर यूनिवर्सिटी की स्टूडेंट होती तो मैं आज इतनी पॉपुलर नहीं होती जितनी की आज हूँ क्योंकि वहां स्टूडेंट की आवाज को दबा दी जाती है। आज हमलोग एक विपक्षी पार्टी की तरह मोदी सरकार पर अपने हक के लिए दवाब बना रहे है जबकि अन्य विपक्षी पार्टी मोदी जी का सामना नहीं कर पा रही है। वहीँ रशीद ने एक ट्वीट में पीएम मोदी को नसीहत देते हुए कहा कि थप्पड़ से डर नहीं लगता साहब ; प्यार से लगता है ! shehla rashid hit modi govt