राफेल डील: सरकार को क्लीन चिट, राहुल एंड कंपनी को शानदार तमाचा

 

राफेल मामले में सर्वोच्च न्यायालय ने आज अहम फैसला सुनाते हुए कहा कि राफेल डील मामले में कोई संदेह नहीं किया जा सकता है. कोर्ट ने कहा कि यह डील पूरी तरह से सही है. हालांकि कोर्ट ने यह भी कहा कि विमान की कीमत तय करना कोर्ट का काम नहीं है. इसके साथ ही कोर्ट ने इस मामले में दायर सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया है.Supreme court judgment rafale deal 

राफेल मामले में शीर्ष न्यायालय के इस फैसले से जहां केंद्र की मोदी सरकार राहत की सांस ले रही है तो वहीं कोर्ट के इस फैसले से कांग्रेस के मंसूबों पर पानी फिर गया है. बता दें कि कांग्रेस लगातार मोदी सरकार पर राफेल डील में भ्रष्टाचार का आरोप लगा रही है. इस मामले में आया कोर्ट का फैसला कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. इसी के साथ राहुल गांधी के फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के साथ हुई बातचीत का झूठ भी खुलकर सामने आ गया है.

दोपहर की ताजा ख़बरें

गौरतलब है कि सर्वोच्च न्यायालय ने राफेल मामले में अपनी अंतिम सुनवाई के बाद अपना फैसला सुनाते हुए कहा कि इस सौदे की प्रक्रिया में कोई कमी नहीं है. वही इस मामले में सरकार के द्वारा दिए गये आधिकारिक जबाव को भी रिकार्ड कर के कहा कि कीमतों की तुलना करना कोर्ट का काम नहीं है. साथ ही कोर्ट ने यह भी कहा कि वह सरकार के 36 राफेल विमान खरीदने के काम में दखल नहीं दे सकता है.Supreme court judgment rafale deal 

कांग्रेस पर बरसे राजनाथ

राफेल मामले में सर्वोच्च न्यायालय का फैसला सरकार के पक्ष में आने के बाद के केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि इससे राहुल गांधी के झूठ का पर्दाफ़ाश हो गया है. उन्होंने कहा कि यह मामला पहले से ही स्पष्ट था लेकिन और सरकार पहले से ही कह रही थी कि कांग्रेस इस मामले का इस्तेमाल अपने राजनीतिक फायदे के लिए कर रही है.Supreme court judgment rafale deal 

बदन में ऐंठन अकड़न और दर्द का आसान इलाज 

नहीं मानेगे कोर्ट का फैसला: प्रशांत भूषण

राफेल मामले पर सर्वोच्च न्यायालय ने अपना अंतिम फैसला सुना दिया है इसी के साथ ही इस मामले पर अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने वालों की दुकानदारी भी बंद हो गई है. जिससे भूषण जैसे कई लोग तिलिमिला गये हैं और इस तिलमिलाहट का असर यह है अब ये लोग सर्वोच्च न्यायालय के फैसले पर भी उंगलियाँ उठाने लगे है. इनमें ताजा नाम सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ वकील और राफेल मामले में याचिकर्ता प्रशांत भूषण ने कोर्ट के फैसले को गलत बताते हुए अपनी नाखुशी जाहिर की है.Supreme court judgment rafale deal