येदि सरकार ने कर्नाटक में टीपू सुल्तान की जयंती पर लगाई रोक, हमलावर हुआ विपक्ष

कर्नाटक में बिते कुछ दिनों से चले आ रहे राजनीतिक घमासान पर अब विराम लग गया है और अब कर्नाटक में एक बार फिर भाजपा की सरकार बन गई है. इसी बीच कर्नाटक का एक बार फिर से सीएम बनते ही बीएस येदियुरप्पा एक्शन में आ गए है. दरअसल कर्नाटक की  बीएस येदियुरप्पा सरकार ने एक बड़ा फेसला लेते हुए टीपू सुल्तान की जयंती पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम को रद्द कर दिया है. 

येदियुरप्पा ने कन्नड़ और संस्कृति विभाग को टीपू जयंती नहीं मनाने का आदेश दिया है. आपको बता दें कि यह आदेश सोमवार को कैबिनेट की बैठक में जारी किया गया था. दरअसल, भाजपा विधायक बोपैया ने सीएम येदियुरप्पा को चिट्ठी लिख कर कार्यक्रम को रद्द करने की मांग की थी. वहीं अब सरकार ने कहा है कि तुरंत प्रभाव से हज़रत टीपू सुल्तान की जंयती पर होने वाले कार्यक्रम को रद्द किया जाता है. 

फूड की डिलिवरी से पहले उसे किया जा रहा जूठा

साथ ही हम आपको बताना चाहेंगे कि कर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया ने वर्ष 2015 में कर्नाटक की सीएम बनने के बाद से कर्नाटक में हर साल टीपू सुल्तान की जंयती मनाई जाती है और हर साल बीजेपी इसका वरोध करती आई है. वहीं कर्नाटक की बीएस येदियुरप्पा सरकार के इस फैसले पर विपक्ष ने सरकार पर निशाना साधा है. कर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्दारमैया ने कहा कि मैनें ही टीपू जयंती मनाना शुरु किया था और मेरे हिसाब से वे देश के पहले स्वतंत्रता सेनानी थे. Tipu Sultan Jayanti

साथ ही उन्होने कहा कि भाजपा के लोग धर्मनिरपेक्ष नहीं हैं. राज्य में 2015 से बीजेपी के विरोध के बाद भी टीपू जंयती मनाई जा रही थी. अब वर्तमान में जैसा कि एक बार फिर भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार कर्नाटक में बन गई है तो शुरू से टीपू सुल्तान की जयंती मनाने का विरध करती आई भाजपा ने इसको लेकर एक अहम फैसला करते हुए टीपू सुल्तान की जयंती पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम को रद्द कर दिया. Tipu Sultan Jayanti

झाइयां, झुर्रियां व चेहरे के दाग धब्बे का परमानेंट घरेलू इलाज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *