अनुच्छेद 370: UNSC में “क्लोज डोर” मीटिंग आज

भारत सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर से विवादित अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से हिन्दुस्तान के अलगाववादी नेताओं और तथाकथित बुद्धिजावियों से कहीं ज्यादा पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान बौखलाया हुआ है.

इस कड़ी में भारत के साथ सारे व्यापारिक संबंध तोड़ने व राजनयिक संबंधों को कमजोर करने के बाद से ही वह लगातार भारत को युद्ध की धमकी दे रहा है. 14 अगस्त को अपने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर भी पाक के राष्ट्रपति आरिफ अलवी ने भारत को युद्ध की धमकी दिया था.

साध्वी निरंजन ज्योति ने मुख्तार अब्बास नकवी को बांधी राखी

इसी कड़ी में उसने चीन के जरिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में एक आपातकालीन बैठक बुलाने की मांग किया था जिसके बाद आज चीन की मांग पर यूएनएससी में कश्मीर के मुद्दे पर ‘बंद कमरे में’ चर्चा होगी.

खास बात यह है कि इससे पहले पाकिस्तान खुद से यूएनएससी में गया था जहां पोलैण्ड ने यह कर पाक को करारा झटका दे दिया था कि इस मामले को भारत और पाकिस्तान द्विपक्षीय सहयोग के जरिए आपस में ही निपटाएं.

ये घरेलु उपचार दिलाएंगे डेंगू से राहत

जिसके बाद हताश पाक अपने सुख:दुख के साथी चीन के पास गया और उससे इस मामले में मदद मांगी. जिसके बाद पाकिस्तान की गुहार पर सुरक्षा परिषद के स्थाई सदस्य चीन ने इसकी पहल की है. बता दें कि सुरक्षा परिषद में पांच देश अमेरिका, रूस, चीन, फ्रांस और ब्रिटेन स्थाई सदस्य हैं.

खास बात यह है कि कश्मीर के मुद्दे पर यूएनएससी में आज होने वाली क्लोज डोर मीटिंग को पाकिस्तान अपनी बड़ी उपलब्धि के रूप में देख रहा है जबकि असलियत यह है कि यह यूएनएससी की पूर्ण बैठक नहीं है.

2 thoughts on “अनुच्छेद 370: UNSC में “क्लोज डोर” मीटिंग आज

  • December 22, 2019 at 9:50 am
    Permalink

    Pretty nice post. I just stumbled upon your blog and wanted
    to say that I’ve really enjoyed browsing your blog posts.
    After all I will be subscribing to your feed and I hope you write again soon!

    Reply
  • December 26, 2019 at 8:03 pm
    Permalink

    Excellent post. I was checking continuously this blog and I am impressed!
    Extremely useful information particularly the last part :
    ) I care for such info much. I was seeking
    this particular info for a long time. Thank you and
    best of luck.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *