राज्यसभा में बहुमत के करीब भाजपा, 16 और सांसदों की दरकार

2014 लोकसभा चुनाव के 282 सीटों के मुकाबले 2019 के चुनावों में 303 सीटों के प्रचंड बहुमत के साथ लोकसभा चुनाव जीतकर भाजपा पीएम मोदी के नेतृत्व में एक बार फिर देश की सत्ता पर काबिज हो चुकी है बावजूद इसके अभी भी राज्यसभा में उसकी स्थिति कुछ ठीक नहीं है जिस कारण से मोदी सरकार को अपने कई विधेयकों को राज्यसभा में पास करवाने में नाकों चने चबाने पड़ रहें हैं. vidhan sabha election bjp

राज्यसभा में बहुमत नहीं होंने के कारण ही मोदी सरकार अपने पिछले कार्यकाल के दौरान काफी कोशिशों के बाद भी तीन तलाक जैसा अहम विधेयक सदन से पारित नहीं करा सकी थी. लेकिन राज्यसभा में 6 सासंदों की संख्या वाली टीडीपी के 4 राज्यसभा सांसदों के हाल ही में पाला बदलकर भाजपा में शामिल होने के बाद से मोदी सरकार की स्थिति सदन में एक बार फिर से मजबूत हो गई है. vidhan sabha election bjp

टीडीपी के 4 सांसदों वाईएस चौधरी, टीजी वेंटकेश, सीएम रमेश, जी मोहन राव के भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने से राज्यसभा में भाजपा के सदस्यों की संख्या 71 से बढ़कर 75 हो गई है. हालांकि टीडीपी ने दलबदल करने वाले इन सासंदों की सदस्यदता रद्द करने की मांग थी लेकिन इन सांसदों पर दल-बदलू कानून भी लागू नहीं रहेगा, जिससे इनकी सदस्यता बरकरार रहेगी.

कान साफ कर दर्द मिटाने का आसान उपाय।

फिलहाल 245 सदस्यों वाले राज्यसभा में अकेले भाजपा के 75 और एनडीए सहित मिलाकर 107 सीटें हो गई है, इसमें हाल ही में राज्य़सभा सदस्य चुने गए आरएलएडी प्रमुख रामविलास पासवान और गुजरात से राज्यसभा के लिए चुने गए विदेश मंत्री एस जयशंकर व जुग्गलजी ठाकोर भी इसमें शामिल हैं. लेकिन फिर भी राज्यसभा में पूर्ण बहुमत के लिए सत्तारूढ़ भाजपा को अभी भी 16 सीटों की दरकार हैं. वहीं दूसरी ओर 4 सांसदों के भाजपा में शामिल होने के बाद अब टीडीपी में सिर्फ दो ही सांसद बचे हैं.

इसके अलावा मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस के राज्यसभा में 48 और टीएमसी के 13 सांसद हैं. खास बात यह है कि जिस तरह का वर्तमान राजनीति परदृश्य बन रहा है उसके मुताबिक भाजपा राज्यसभा में लगातार अपनी स्थिति को और अधिक सुदृढ़ बनाने में जुटी हुई है जिससे इस बात की संभावना काफी प्रबल हो गई है कि जल्द ही दूसरी पार्टियों के कई और सांसद भाजपा का दामन थाम सकते हैं. vidhan sabha election bjp

अगले साल उत्तर प्रदेश की 10 राज्यसभा सीटों पर चुनाव होना है जिसमें आंकड़ों को देखते हुए भाजपा की जीत निश्चित दिख रही है. उम्मीद इस बात की भी है कि वाईसआरसीपी और बीजेडी का भी साथ भाजपा को राज्य सभा में मिल सकता है.

-कुलदीप सिंह

मानहानि केस : पटना कोर्ट में आज पेश होंगे राहुल गांधी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *