कार्य व्यवस्था को कमजोर कर बदनाम करने में लगी है-रविन्द्र गुप्ता



दिल्ली भाजपा के महामंत्री एवं पूर्व महापौर श्री रविन्द्र गुप्ता ने कहा है कि अपनी पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार की तरह अरविन्द केजरीवाल सरकार राजनीतिक द्वेष के चलते दिल्ली के नगर निगमों के फंड अबंटन को बाधित कर जहाँ उनकी कार्य व्यवस्था को पंगु कर भाजपा की राजनीतिक छवि धूमिल करने का प्रयास तो कर ही रही है साथ ही निगम चुनावों में आम आदमी पार्टी को नकारने के लिये दिल्ली की जनता को भी प्रताड़ित कर रही है। Weaken system work

वित्त आयोग को 2004 में गठित किया गया था Weaken system work

श्री गुप्ता ने कहा है कि अरविन्द केजरीवाल नगर निगमों को दिये जा रहे फंडों के मामले में लगातार झूठ बोल रही है। केजरीवाल सरकार तीनों नगर निगमों को तृतीय दिल्ली वित्त आयोग की सिफारिशों के अनुसार फंड दे रही है। तृतीया वित्त आयोग को 2004 में गठित किया गया था और इसकी सिफारिशों के अनुसार तत्कालीन संयुक्त नगर निगम को केवल 2006-11 के बीच फंड दिया जाना था। Weaken system work

2012 में नगर निगम का तीन हिस्सों में बटवारा कर दिया गया। उस समय से ही स्थापित था की पूर्वी एवं उत्तरी दिल्ली निगमों की आर्थिक स्थिती सेवा दायित्वों के मुकाबले बहुत कमजोर है पर इसके बाद भी तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने न इन दोनों नगर निगमों का देय स्थापना फंड दिया और न ही चैथे दिल्ली वित्त आयोग की सिफारिशों को विधानसभा में स्वीकार किया। Weaken system work

गत वर्ष न्यायालय के आदेश Weaken system work

पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार की ही तरह केजरीवाल सरकार ने 2013 से आयीं चैथे दिल्ली वित्त आयोग की सिफारिशों को विधानसभा के पटल पर नहीं रखा। गत वर्ष न्यायालय के आदेश एवं भाजपा के राजनीतिक दबाव के चलते अरविन्द केजरीवाल सरकार ने चैथे दिल्ली वित्त आयोग की सिफारिशों को विधानसभा के पटल पर रख कर स्वीकार तो कर लिया पर राजनीतिक द्वेष के चलते लागू आज तक नहीं किया। Weaken system work

इसी तरह वर्तमान नगर निगमों को तो पांचवें दिल्ली वित्त आयोग की सिफारिशों के अनुसार फंड मिलना चाहियें पर यह दुर्भाग्य है की केजरीवाल सरकार अक्टूबर, 2017 में ही आ चुकी पांचवें आयोग की सिफारिशों को दबाये बैठी है और इनको विधानसभा में नहीं रख रही। Weaken system work



कार्य व्यवस्था को कमजोर कर बदनाम करने में लगी है। Weaken system work

भाजपा महामंत्री ने कहा है की अरविंद केजरीवाल सरकार के राजनीतिक द्वेष के चलते आज जब दिल्ली के नगर निगमों को पांचवें दिल्ली वित्त आयोग की अक्टूबर, 2017 से लम्बित सिफारिशों अनुसार फंड मिलना चाहियें तब उन्हे 2006-11 के मानकों पर फंड देकर उनकी कार्य व्यवस्था को कमजोर कर बदनाम करने में लगी है। Weaken system work

श्री रविन्द्र गुप्ता ने कहा है कि 2012 में बटवारे के वक्त ही सबको मालूम था की पूर्वी दिल्ली निगम के पास सबसे कम राजस्व है और क्षेत्र विशाल पर तृतीये दिल्ली वित्त आयोग की सिफारिशों के कारण पूर्वी निगम को फंड में मात्र 18 प्रतिशत हिस्सा मिला जबकि चैथे वित्त आयोग की स्वीकृत सिफारिशों के अनुसार यह 42 प्रतिशत बनता है। Weaken system work

अरविन्द केजरीवाल दबाये बैठे हैं। Weaken system work

वर्तमान में दिल्ली के नगर निगमों को दिल्ली वित्त आयोग की सिफारिशों के अनुसार 2007 में तय दिल्ली सरकार के राजस्व का 10.5 प्रतिशत फंड के रूप में मिलता है जबकि चैथे वित्त आयोग अनुसार यह 12.5 प्रतिशत और जानकारों अनुसार पांचवें दिल्ली वित्त आयोग ने इसे 2017 राजस्व अनुसार 15 प्रतिशत करने की सिफारिश की है जिसे अरविन्द केजरीवाल दबाये बैठे हैं। Weaken system work

दिल्ली की जनता नगर निगमों की आर्थिक विषमता को खूब समझती है और पहले कांग्रेस एवं अब आम आदमी पार्टी के कुप्रचार के बाद भी लगातार भाजपा को सेवा का दायित्व देती है। जनता भलीभांति समझती है की 2006 के आंकड़ो पर मिले फंड पर काम करते हुऐ भी निगम दिल्ली को संतोष जनक सफाई, प्राईमरी शिक्षा एवं स्वास्थ्य ही नहीं अन्य अनेक सेवायें दे रहे हैं। Weaken system work

यहाँ यह बताना उल्लेखनीय है की तृतीय वित्त आयोग की सिफारिशों अनुसार 2012 में नगर निगमों को लगभग 3920 करोड़ फंड मिला और 6 वर्ष बाद 2017-18 में भी वह 4105 करोड़ पर अटका है, यह 185 करोड़ की वृद्धि केन्द्र सरकार से मिले अतिरिक्त फंड के कारण है। इस बीच 2007 के मुकाबले दिल्ली सरकार का अपना राजस्व दो गुणा हो गया है पर निगम वहीं फंडों की कमी से जूझ रहे हैं। Weaken system work

देखिए कृष्णा श्रॉफ के हॉट विडियो पर टाइगर श्रॉफ ने क्या कहा

दिल्ली की जनता कांग्रेस को तो पहले ही नकार चुकी है अब 2019 के चुनाव में आम आदमी पार्टी को भी दिल्ली के राजनीतिक क्षितिज से मिटा देगी। Weaken system work

बालों का झड़ना,डैंड्रफ,दोमुंहे और रूखे बालों का जबरदस्त नुस्खा