कांग्रेस की साजिश थी 26/11 हमला: पूर्व अधिकारी

पूरे देश को झकझोर देने वाले 26 नवंबर 2008 को हुए मुंबई हमले को लेकर बड़ा ही सनसनी खेज खुलासा करते हुए केन्द्रीय गृहमंत्रालय के पूर्व अंडर सेक्रेटरी आरवीएस मणि ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए दावा किया है कि मुंबई के ताज होटल पर हुआ आतंकी हमला पाकिस्तान और तत्कालीन कांग्रेस का फिक्स मैच था.

आरवीएस मणि ने इस बात का भी खुलासा किया है जिस वक्त इस हमले को अंजाम दिया गया उस दौरान केन्द्रीय गृहमंत्रालय के ज्यादातर अफसर आतंकवाद पर होने वाली सालाना बैठक में हिस्सा लेने के लिए इस्लामाबाद की यात्रा पर थे. यह हाई लेवल तारीख को बढ़ाकर 26/11 कर दिया गया. और उसी दिन आधी रात को इस हमले को मुंबई में अंजाम दिया गया.

मैंने कोर्ट से माफी मांगी, आरएसएस और भाजपा से नही: राहुल गांधी

पूर्व अधिकारी मणि ने हिन्दू आतंकवाद शब्द को गढ़े जाने को लेकर भी खुलासा करते हुए कहा कि हिन्दू आतंकवाद यूपीए सरकार की पूर्व सुनियोजित परिकल्पना थी जिसे कुछ बड़े नेताओं और अधिकारियों ने मिलकर गढा था उन्होने ही पहले इसे प्रचारित किया और बाद में हिंदू आतंकवाद का सबूत तैयार किया. हालांकि इनका असली मकसद क्या था य़ह तो मुझे नही पता लेकिन इतना जरूर है कि इससे असल आतंकी बच निकले.

मणि ने यह खुलासा अपनी चर्चित किताब हिंदू टेरर-इनसाइडर एकाउंट आफ मिनिस्ट्री आफ होम अफेयर्स को लेकर चर्चा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा मंच की ओर से भोपाल में आयोजित एक गोष्ठी के दौरान कहा. इस दौरान मणि के इस दावे को और पुख्ता आधार तब मिला जब ‘द ग्रेट इंडियन कांस्पिरेसी’ और ‘आतंक से समझौता’ के लेखक और पत्रकार प्रवीण तिवारी ने कांग्रेस नेताओं पर हिंदू आतंकवाद गढ़ने का आरोप लगाया.

उन्होंने इस बात का भी दावा किया कि मुंबई हमले के ज्यादातर आतंकवादियों के हाथ में कलावा था, गले में हिंदू धर्म के लॉकेट थे और इस बात की पुष्टि अमेरिका में पकड़े गए आतंकी डेविड हेडली ने भी किया था. यदि कसाब जिंदा न पकड़ा जाता तो, सभी आतंकियों को हिंदू आतंकी घोषित कर दिया जाता. यह एक षडयंत्र था, जो सफल नहीं हो सका.

घी के फायदे जानकर दंग रह जायेंग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *