प्रियंका बोलीं- हमें मिलेगा हमारी मेहनत का फल

लोकसभा चुनाव के मतदान खत्म होने के बाद कई चैनलों के एक्जिट पोल्स आ गए हैं जिसमें एनडीए को पूर्ण बहुमत मिलता दिखाया गया है जिससे विपक्षी दलों में बौखलाहट साफ तौर पर देखी जा रही है. इस बौखलाहट का नतीजा यह हो रहा है कि पिछले दो दिनों में ईवीएम को खूब कोसा गया, उस गालियां दी गईं हैं. इसी क्रम में आज विरोधी दल चुनाव आयोग से भी मिलने जा रहें हैं.

आज दोपहर की बड़ी ख़बरें | 21st May 2019

एक्जिट पोल पर सवाल उठाने के बाद जहां विपक्ष 23 मई से पहले कुछ भी बोलने से बच रहा है वहीं एनडीए में बैठकों का दौर भी शुरू हो गया है. इस कड़ी में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से एक्जिट पोल के नतीजों और अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील करते हुए स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर डटे रहने को कहा है.

कंप्यूटर की तरह तेज बनाये अपना दिमाग

उन्होंने कार्यकर्ताओं एक आडियो संदेश जारी किए एक संदेश में कहा कि ‘आप लोग अफवाहों और एग्जिट पोल से हिम्मत मत हारिए. यह अफवाहें आपका हौसला तोड़ने के लिए फैलाई जा रही है. इसलिए ऐसे वक्त में आपकी जिम्मेदारी और अधिक बढ़ जाती है. मतगणना केंद्रों और स्ट्रॉन्ग रूम पर डटे रहिए और सतर्क रहिए. उन्होंने उम्मीद जताई है कि हमारी और आपकी मेहनत का फल मिलेगा.’

गौरतलब है कि एग्जिट पोल के आंकड़ों के मुताबिक देश में एक बार फिर मोदी सरकार बन रही है. एबीपी निल्सन के 277 सीटों के आंकड़ों को छोड़ दें तो ज्यादातर टीवी चैनल्स और सर्वे एजेंसियों ने एनडीए को 350 के आसपास सीटें मिलती दिख रहीं हैं. इसी कारण से विपक्षी पूरी तरह से बौखला गए हैं.

विपक्ष को लगा एक और झटका

एक्जिट पोल के नतीजों के बाद से ईवीएम सटीकता पर सवाल उठाते हुए विपक्ष ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर ईवीएम का वीवीपैट से 100 मिलान करने के लिए चुनाव आयोग को आदेश देने की मांग किया था जिस पर शीर्ष न्यायालय ने सुनवाई करते हुए विरोधियों की याचिका को खारिज कर दिया. इसके साथ ही कड़ी अदालत ने विपक्ष को ईवाएम मामले में कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि वह इस तरह की याचिकाओं पर बार-बार सुनवाई नहीं कर सकता है.

वहीं दूसरी तरफ चुनाव आयोग ने भी यूपी में ईवीएम से छेड़छाड़ की विपक्ष की आशंकाओं को खारिज करते हुए कहा कि विपक्ष ईवीएम पर भरोषा करे यह पूरी तरह से सुरक्षित है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *