इंदिरा गाँधी आयुर्विज्ञान संस्थान में मरीजों की सुविधाओं का हुआ विस्तार

• स्वास्थ्य मंत्री, बिहार सरकार ने किया यूरोलॉजी और गैस्ट्रो साइंस विभाग का उद्घाटन
• इंदिरा गाँधी आयुर्विज्ञान संस्थान के यूरोलॉजी और गैस्ट्रो साइंस विभाग का किया गया उन्नयन
• संस्थान में विश्व स्तरीय सुविधा उपलब्ध कराने के लिए सरकार संकल्पित- मंगल पांडेय
• “प्रगति ही मेरी पहचान है” होना चाहिए संस्थान का मूलमंत्र: मंगल पांडेय

पटना-

स्वास्थ्य सेवाओं का लगातार विस्तार एवं नवीनीकरण सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग की प्राथमिकताओं में से एक है. नयी -नयी तकनीक से स्वास्थ्य संस्थानों को सुस्सजित कर जनमानस को गुणवत्तापूर्ण चिकित्सीय सुविधा ससमय उपलब्ध हो सके इसके लिए सरकार प्रयासरत है. इसी क्रम में शनिवार को इंदिरा गाँधी आयुर्विज्ञान संस्थान ओपीडी ब्लॉक में यूरोलॉजी और गैस्ट्रो साइंस विभाग के नवनिर्मित विभागों का उद्घाटन राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय द्वारा किया गया.साथ ही स्वास्थ्य मंत्री ने नवनिर्मित विभागों का चिकित्सकों के साथ भ्रमण कर उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी ली और नए चिकित्सीय उपकरणों की जानकारी ली.

संस्थान में विश्व स्तरीय सुविधा उपलब्ध कराने के लिए सरकार संकल्पित: मंगल पांडेय:

यूरोलॉजी और गैस्ट्रो साइंस विभाग के नवनिर्मित विभागों का उद्घाटन करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा “राज्य सरकार और स्वास्थ्य विभाग संस्थान में विश्व स्तरीय सुविधा उपलब्ध कराने के लिए संकल्पित है. मेडिकल साइंस विश्व भर में तेजी से प्रगति कर रहा है और नित नए चिकित्सीय तकनीक विकसित किये जा रहे हैं. इस संस्थान के अन्दर क्या -क्या नए सुविधाओं का विस्तार किया जा सकता है इसपर स्वास्थ्य विभाग द्वारा नियमित चिंतन किया जाता है”. स्वास्थ्य मंत्री ने बताया नए साधनों को इंदिरा गाँधी आयुर्विज्ञान संस्थान में उपलब्ध कराना विभाग की प्राथमिकता है और इसके लिए जरुरी संसाधन की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी.

“प्रगति ही मेरी पहचान है” होना चाहिए संस्थान का मूलमंत्र- मंगल पांडेय:
कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा इंदिरा गाँधी आयुर्विज्ञान संस्थान का मूलमंत्र “प्रगति ही मेरी पहचान है” होना चाहिए क्योंकि संस्थान में लगातार मरीजों की सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है. इन विभागों के उन्नयन से कई तरह के रोगों से ग्रसित मरीजों को गुणवत्तापूर्ण चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध होगी. संस्थान में हमेशा स्वच्छता का ध्यान रखा जाता है और आने वाले मरीजों को एक स्वच्छ माहौल में विश्वस्तरीय चिकित्सीय सुविधा प्राप्त हो इसके लिए संस्थान प्रयासरत है। इसी तरह आगे भी सुविधाओं का विस्तार जारी रहेगा.

संस्थान मरीजों की सेवा के लिए है हमेशा उपलब्ध और तैयार- डॉ. एन.आर.बिस्वास

कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए इंदिरा गाँधी आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक डॉ. एन.आर.बिस्वास ने कहा संस्थान में किये जा रहे नवीनिकरण और सुविधाओं का विस्तार जनमानस को गुणवत्तापूर्ण चिकित्सीय सेवा ससमय उपलब्ध कराने के हमारे उद्देश्य को दिखाता है. संस्थान मरीजों की सेवा के लिए हमेशा उपलब्ध और तैयार है और सभी चिकित्सक और अन्य स्वास्थ्यकर्मी लोगों की सेवा हेतु तत्पर हैं.
कार्यक्रम में यूरोलोजी विभाग के डॉ. राजेश तिवारी, गैस्ट्रो मेडिसिन विभाग के डॉ. वी.एम.दयाल एवं अन्य चिकित्सक एवं स्वास्थ्यकर्मी उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: