एनटीईपी कार्यक्रम: मुंगेर के सीनियर डॉट प्लस एवं जिला टीबी – एचआईवी सुपरवाइजर के लिए पीएमडीटी प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन


– राज्य स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण संस्थान में आयोजित किया गया है दो दिवसीय प्रशिक्षण
-17- 18 अगस्त और 20 – 21 अगस्त को पीएमडीटी का प्रशिक्षण

मुंगेर, 17 अगस्त-

वर्ष 2025 तक पूरे भारत को टीबी मुक्त बनाने को ले भारत सरकार के द्वारा देशभर में राष्ट्रीय टीबी उन्मूलन कार्यक्रम (एनटीईपी) चलाया जा रहा है। इसी कार्यक्रम के तहत पटना के शेखपुरा स्थित राज्य स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण संस्थान में मंगलवार एवं बुधवार को दो दिवसीय पीएमडीटी प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। जिसमें मुंगेर जिले से सीनियर डॉट प्लस एवं टीबी/एचआईवी सुपरवाइजर के साथ -साथ इंचार्ज सीनियर डॉट प्लस एवम टीबी /एचआईवी सुपर वाइजर हिस्सा ले रहे हैं।
प्रशिक्षणार्थियों को 17- 18 अगस्त और 20 – 21 अगस्त को पीएमडीटी का प्रशिक्षण-
डिस्ट्रिक्ट टीबी सेंटर मुंगेर के डिस्ट्रिक्ट टीबी/एचआईवी कोऑर्डिनेटर शैलेन्दु कुमार ने बताया कि नेशनल टीबी एलिमिनेशन प्रोग्राम 2025 के तहत आयोजित हो रहे पीएमडीटी ट्रेनिंग को ले यक्ष्मा प्रदर्शन एवम प्रशिक्षण केंद्र अगमकुआं पटना के अपर निदेशक कार्यालय से एक चिट्ठी जारी की गई थी। इसके अनुसार राज्य के सभी 38 जिलों के प्रशिक्षणार्थियों को दो बैच में बांट कर 17- 18 अगस्त और 20 – 21 अगस्त 2021 को पीएमडीटी का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।
पहले बैच में मुंगेर जिला के प्रशिक्षणार्थी भी हिस्सा ले रहे
उन्होंने बताया कि पहले बैच में मंगलवार और बुधवार को मुंगेर जिला के प्रशिक्षणार्थी हिस्सा ले रहे हैं। इनके साथ ही पहले बैच में अररिया, औरंगाबाद, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, गया, जमुई, खगड़िया, किशनगंज, मधुबनी, सारण, शेखपुरा, जहानाबाद, मुजफ्फरपुर, कैमूर, कटिहार, नालन्दा और नवादा जिला के प्रशिक्षणार्थी भी हिस्सा ले रहे हैं।

दूसरे बैच में 20 और 21 अगस्त को लखीसराय सहित 19 जिला के प्रशिक्षणार्थी लेंगे हिस्सा –
उन्होंने बताया कि आगामी 20 और 21 अगस्त को मुंगेर प्रमंडल के लखीसराय जिला के साथ- साथ पटना, पूर्णिया, रोहतास, समस्तीपुर, शिवहर, सीतामढ़ी, सिवान, अरवल, बांका, बक्सर, दरभंगा, गोपालगंज, मधेपुरा, पूर्वी चंपारण, सहरसा, सुपौल, वैशाली और पश्चिमी चंपारण जिला के प्रशिक्षणार्थी हिस्सा लेंगे।
प्रशिक्षणार्थियों के लिए छात्रावास में निःशुल्क रहने और भोजन की व्यवस्था
उन्होंने बताया कि पटना जाने वाले सभी प्रशिक्षणार्थियों के लिए छात्रावास में निःशुल्क रहने और भोजन की व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही सभी प्रशिक्षणार्थियों को टीए- डीए का भुगतान पीएफएमएस के माध्यम से सीधे उनके बैंक अकाउंट में टीबीडीसी के द्वारा कर दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.