कैंसर दिवस पर विशेष- कैंसर का इलाज शुरुआत में ही कराएं, हो जाएगा खत्म

कैंसर दिवस पर विशेष;
कैंसर का इलाज शुरुआत में ही कराएं, हो जाएगा खत्म
-देरी करने पर हो जाता है जानलेवा, फिर हो जाता है लाइलाज
-कैंसर से बचाव के लिए आज से 10 तक चलेगा जागरूकता अभियान
बांका, 3 फरवरी।
आज विश्व कैंसर दिवस है। इसे लेकर सरकार की तरफ से तमाम जागरूकता कार्यक्रम चलाए जाएंगे। लोगों को कैंसर से बचाव की जानकारी दी जाएगी। इसकी पहचान कैसे करनी है, इसके बारे में बताया जाएगा। दरअसल, कैंसर एक ऐसी बीमारी है, जिसकी शुरुआत में पता चलने पर इलाज हो जाता है। मरीज भी पूरी तरह से ठीक हो जाते हैं, लेकिन देरी करने पर यह असाध्य हो जाता है और जानलेवा साबित होता है। इसलिए सरकार के साथ-साथ खुद भी इसे लेकर जागरूक होने की जरूरत है।
सिविल सर्जन डॉ. अभय प्रकाश चौधरी कहते हैं कि वैसे तो हर तरह के कैंसर के मरीज मिलते रहते हैं, लेकिन आमतौर पर पुरुषों में मुंह का कैंसर और महिलाओं में स्तन का कैंसर अधिक पाया जाता है। इसके लिए पुरुषों को धूम्रपान से बचना चाहिए। पान, बीड़ी, सिगरेट, गुटखा, खैनी इत्यादि का सेवन न करें। महिलाओं को अगर स्तन में गांठ का अनुभव हो तो तत्काल उसकी जांच कराएं। अगर शुरुआती तौर पर ही कैंसर का पता चल जाएगा तो उसका इलाज हो जाएगा। इसलिए लापरवाही नहीं करें और इससे बचने की हरसंभव कोशिश करें।
सिविल सर्जन ने बताया कि आज से एक सप्ताह तक लोगों को कैंसर से जागरूक करने के लिए अभियान चलाया जाएगा। सदर अस्पताल समेत जिले के सभी सरकारी अस्पतालों के प्रभारियों को इसे लेकर पत्र लिखा गया है। साथ ही आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। जागरूकता अभियान के तहत रैली निकाली जाएगी और लोगों से संपर्क कर उन्हें इससे बचाव के बारे में बताया जाएगा। मालूम हो कि इसे लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह ने पत्र जारी कर राज्य के सभी सिविल सर्जन को आवश्यक निर्देश दिए हैं, जिसमें हर हाल में निर्धारित तिथि पर कार्यक्रम का शुभारंभ सुनिश्चित कराने को कहा है।
मुफ्त में दिया जाएगा चिकित्सकीय परामर्शः सिविल सर्जन ने बताया कि 4 से 10 फरवरी के दौरान आयोजित होने वाले नि:शुल्क कैंसर चिकित्सा परामर्श सह जागरूकता शिविर में संभावित मरीजों की स्क्रीनिंग के साथ ही उसे चिकित्सकीय परामर्श भी दिया जाएगा। इसके साथ ही समाज के प्रत्येक व्यक्ति को कैंसर के प्रति जागरूक किया जाएगा और कैंसर के इलाज के लिए सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में उपलब्ध व्यवस्था की जानकारी दी जाएगी। शिविर में आमतौर पर होने वाले कैंसर जैसे गर्भाशय, स्तन एवं मुंह के कैंसर आदि बीमारियों के संभावित कारणों, लक्षणों और उससे बचाव के प्रति जागरूकता का संदेश दिया जाएगा।
इलाज के लिए भेजा जाएगा बेहतर स्वास्थ्य संस्थान: सिविल सर्जन ने बताया कि जांच के दौरान जिस व्यक्ति में कैंसर के लक्षण पाए जाएंगे, उन्हें समुचित इलाज के लिए बेहतर सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में भेजा जाएगा। स्वास्थ्य विभाग द्वारा ऐसे व्यक्ति को समुचित इलाज के लिए पटना स्थित महावीर कैंसर संस्थान, पीएमसीएच, एम्स समेत अन्य बेहतर सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों का चयन किया गया है। जहां ऐसे मरीजों को समुचित इलाज के लिए भेजा जाएगा। इसलिए अगर थोड़ी भी आशंका हो तो स्क्रीनिंग के लिए सामने आएं, जहां पर आपको उचित परामर्श दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: