कोरोना काल में अब ई. संजीवनी ओपीडी एप के माध्यम से घर बैठे ले सकेंगे चिकित्सकीय सलाह

  • गूगल प्ले स्टोर से एप डॉउनलोड करने के बाद मरीजों को अब नहीं लगाने पड़ेंगे डॉक्टरों के चक्कर
  • कोरोना काल में मरीजों को उसके घर पर ही ऑनलाइन चिकित्सकीय सलाह उपलब्ध कराने की स्वास्थ्य विभाग की पहल

मुंगेर-

कोरोना काल में ई. संजीवनी ओपीडी एप के माध्यम से विभिन्न बीमारियों से ग्रसित मरीज अब घर बैठे चिकित्सकीय सलाह ले सकेंगे। इस एप के जरिये मरीज कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए भीड़ – भाड़ में जाने के बजाय घर बैठे ही ऑनलाइन तरीके से ओपीडी सेवाओं का लाभ उठाते हुए डॉक्टरों से सम्पर्क कर आवश्यक सलाह ले सकते हैं। मालूम हो कि कोरोना काल में इलाज के लिए विभिन्न अस्पतालों एवं स्वास्थ्य केंद्रों पर उमड़ने वाली भीड़ और इस दौरान कोरोना गाइड लाइन के तहत शारीरिक दूरी के नियम का शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से केन्द्र और बिहार सरकार के द्वारा ई. संजीवनी ओपीडी मोबाइल एप के रूप में मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने की दिशा में अनूठी पहल की गई है।
एप या वेबसाइट के जरिये मरीज खुद का रजिस्ट्रेशन करके ओपीडी सेवाओं का लाभ ले सकता
जिला स्वास्थ्य समिति मुंगेर के जिला कार्यक्रम समन्वयक ( डीपीसी) विकास कुमार ने बताया कि ई. संजीवनी ओपीडी मोबाइल एप के रूप में नेशनल टेली कंसल्टेशन सर्विसेस (टेलीमेडिसिन) सेवाओं को विस्तार दिया गया है। इस एप या वेबसाइट के जरिये मरीज खुद का रजिस्ट्रेशन करके ओपीडी सेवाओं का लाभ ले सकता है। इसमें डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल के साथ- साथ कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, प्राइमरी हेल्थ सेंटर, मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल और प्राइवेट डॉक्टरों को भी रजिस्टर्ड किया गया है। इसमें मरीजों को डॉक्टरों का पूरा टाइम और कंसल्टेशन मिले इसका पूरा ध्यान रखा गया है। इसमें कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर और एएनएम को भी रजिस्टर्ड किया गया है ताकि मरीज और उनके अटेंडेंट को वो जानकारी दे सकें । इस एप में डॉक्टरों को कॉल करने की भी सुविधा दी गई है।

क्या है प्रक्रिया ?
गूगल प्ले स्टोर से ई. संजीवनी ओपीडी मोबाइल एप डाउनलोड करने के बाद अपना, नाम और मोबाइल नंबर दर्ज कर अपना रजिस्ट्रेशन कराएं। इसके बाद डॉक्टरों की लिस्ट चेक करें और उपलब्धता के आधार पर डॉक्टर से अपॉइंटमेंट लें। इसके बाद डॉक्टर के फीड किए गए मोबाइल नंबर पर कॉल कर अपनी परेशानी के बारे में सलाह ले सकते हैं। यहां यदि डॉक्टर को पुरानी जांच रिपोर्ट, एक्स रे, अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट सहित अन्य रिपोर्ट दिखाना हो तो एप पर उसे अपलोड करने का भी विकल्प मौजूद है। एप के जरिये ही डॉक्टर अपना प्रिस्क्रिप्शन भी भेजेंगे जिसमें डॉक्टर का डिजिटल साइन भी होगा ताकि मरीज को दवाइयां लेने और जांच में कोई परेशानी नहीं हो।

सप्ताह में तीन दिन मिलेगी इस एप के जरिये ओपीडी की सुविधा :
उन्होने बताया कि जिला में मरीजों को ई. संजीवनी ओपीडी की सुविधा सप्ताह में तीन दिन मंगलवार, बुधवार और शुक्रवार को सुबह 09 बजे से दोपहर 02 बजे तक मिलेगी।

इस एप के जरिये मुंगेर की अन्नू कुमारी ने ली चिकित्सकीय सलाह :
उन्होंने बताया कि मुंगेर की गलिमपुर निवासी 25 वर्षीय अन्नू कुमारी ने विगत 09 जुलाई को 11. 56 बजे चिकित्सकीय सलाह ली। इन्हें पूरे शरीर में दर्द और उल्टी की परेशानी थी। इनका पेशेंट आईडी 1001360218868144 कॉन्सल्टेशन आईडी 7432868 है। इन्हें डॉक्टर के द्वारा पांच दिनों के लिए दवा भी दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: