कोरोना के केस नहीं मिल रहे, फिर भी स्वास्थ्य विभाग सतर्क

-शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में जांच की संख्या में बढ़ोतरी जारी
-एंटीजन के साथ-साथ आरटीपीसीआर जांच में भी दोगुनी बढ़ोतरी

बांका, 21 जुलाई-
कोरोना की दूसरी लहर लगभग समाप्त हो चुकी है। संक्रमित मरीजों की संख्या नहीं के बराबर ही मिल रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद स्वास्थ्य विभाग सतर्क है। इसी का परिणाम है कि कोरोना जांच की संख्या लगातार बढ़ रही है। शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पहले आमतौर पर 100 लोगों की एंटीजन जांच होती थी, लेकिन बुधवार को 350 लोगों की एंटीजन किट से जांच की गई। इसी तरह आरटीपीसीआर जांच के लिए आमतौर पर 65 से 70 सैंपल लिए जाते थे, लेकिन पिछले दो दिनों से इसके सैंपल की संख्या भी बढ़ा दी गई है। सोमवार की ही तरह मंगलवार को भी 125 लोगों के सैंपल आरटीपीसीआर मशीन से जांच के लिए लिया गया। साथ ही ट्रूनॉट मशीन से जांच के लिए भी 10 लोगों के सैंपल लिए गए।
जितने अधिक लोगों की जांच होगी, उतनी ही जल्द कोरोना की चेन टूटेगी-
शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ. सुनील कुमार चौधरी ने बताया कि कोरोना के मरीज नहीं मिलना अच्छी बात है, लेकिन सतर्कता अभी जारी रहेगी। यह बात समझ लेनी चाहिए कि जितने अधिक लोगों की जांच होगी, उतनी ही जल्द कोरोना की चेन टूटेगी। सभी लोगों को टीके पड़ जाए और अधिक से अधिक लोगों की कोरोना जांच होती रहे तो यह बीमारी काबू में रहेगी। यही कारण है कि हमलोग लगातार जांच की संख्या बढ़ा रहे हैं। एंटीजन जांच के साथ-साथ अब तो आरटीपीसीआर जांच के सैंपल भी दोगुने लिए जा रहे हैं।
अभी कोरोना की गाइडलाइन का पालन जरूरीः
डॉ. चौधरी ने बताया कि हालांकि जांच में कोई भी व्यक्ति संक्रमित नहीं मिला, लेकिन फिर भी सभी लोगों को सावधान रहने के लिए कहा गया। घर से बाहर जाते वक्त मास्क लगाने और सामाजिक दूरी का पालन करते हुए एक-दूसरे के बीच दो गज दूरी का पालन करने के लिए कहा गया। बाहर से घर आने पर 20 सेकेंड तक धुलाई अवश्य तौर पर करने के लिए कहा गया। साथ ही घर में भी अगर बातचीत कर रहे हों तो दो गज की दूरी बनाकर रहें। ऐसा करने से कोरोना की चपेट में आने से बचे रहेंगे।
503 लोगों को लगे टीकेः
उधर, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के तहत 503 लोगों को बुधवार को कोरोना के टीके दिए गए। टीका देने के बाद सभी लोगों को 30 मिनट तक निगरानी में रखा गया। किसी तरह की कोई समस्या नहीं आने पर सभी को घर जाने दिया गया। साथ ही समय पर आकर कोरोना टीका की दूसरी डोज अवश्य लेने के लिए कहा गया। दूसरी डोज लेने के बाद ही टीकाकरण की प्रक्रिया पूरी होगी। इसलिए समय पर आकर टीका की दूसरी डोज लेना बहुत जरूरी है। साथ ही जिन्होंने कोरोना का टीका ले लिया है, उन्हें भी कोरोना की गाइडलाइन का पालन करने को कहा गया। जब तक सभी लोगों को टीका नहीं पड़ जाता है तब तक सभी लोगों को गाइडलाइन का पालन करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *