कोरोना के खिलाफ हर मोर्चे पर है बेहतर इंतजामः सिविल सर्जन

जांच, इलाज से लेकर टीकाकरण का बेहतर तरीके से चल रहा काम
कोरोना के लक्षण दिखने पर तत्काल जांच करा अपना इलाज शुरू करे

बांका, 22 मई

एक तरफ कोरोना की दूसरी लहर के बीच जिले के काफी संख्या में लोग कोरोना की चपेट में आए, लेकिन स्वास्थ्य विभाग की बेहतर तैयारी की वजह से कोरोना के मामले अब कम होने लगे हैं। स्वास्थ्य विभाग की मेहनत का ही नतीजा है कि अब जिले में संक्रमितों की तुलना में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। जिले में पंचायत स्तर तक जांच, इलाज से लेकर टीकाकरण की व्यवस्था है और जिले के लोग इसका लाभ भी उठा रहे हैं। घर-घर जाकर मरीजों की देखभाल हो रही है। टेलीफोन के जरिये भी मरीजों के स्वास्थ्य का हाल जाना जा रहा है। अगर किसी मरीज को कोई परेशानी होती है तो स्वास्थ्य विभाग की टीम तत्काल घर जाकर उसका इलाज करती है।
सिविल सर्जन डॉ. सुधीर कुमार महतो कहते हैं कि कोरोना की दूसरी लहर से हमलोग डटकर मुकाबला कर रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम हर मोर्चे पर तैयार है और हमारी टीम कोरोना उन्मूलन को लेकर जी तोड़ मेहनत कर रही है। किसी भी स्तर पर कोई कमी नहीं होने दी जा रही है। पंचायत तक जांच से लेकर टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध है। जिले में टीकाकरण अभियान भी सुचारू तरीके से चल रहा है। लोगों से मेरी यही अपील है कि अपने निजी केंद्रों पर जाकर कोरोना का टीका लें। जितने अधिक लोगा टीका लेंगे, कोरोना पर हम उतनी जल्दी विजय पा लेंगे। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में स्वास्थ्य विभाग की मुस्तैदी के साथ लोगों का सहयोग भी जरूरी है।
होम आइसोलेशन में मरीजों की हो रही लगातार जांचः सिविल सर्जन ने कहा कि जिन मरीजों का होम आइसोलेशन में इलाज चल रहा है, उनकी लगातार स्वास्थ्य जांच हो रही है। स्वास्थ्यकर्मी घर जाकर ऑक्सीजन लेवल से लेकर मरीजों की स्थिति को देखकर दवा दे रहे हैं। यह काम जिले के सभी प्रखंडों में चल रहा है। इसलिए अगर किसी को भी कोरोना के लक्षण का आभास भी हो तो तत्काल पास के जांच केंद्र पर जाकर अपनी जांच कराएं। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर अपना इलाज शुरू कर दें।
शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की टीम कर रही कड़ी मेहनतः वहीं शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ. सुनील कुमार चौधरी ने बताया शहरी क्षेत्र में कोरोना के खिलाफ लगातार अभियान चल रहा है। हमारी टीम कड़ी मेहनत कर रही है। कंटेनमेंट जोन में जाकर होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की लगातार जांच हो रही है। जांच के बाद उन्हें दवा उपलब्ध करवाई जा रही है। कोरोना को हराने के लिए इलाज के साथ उचित व्यवहार भी जरूरी है। इसलिए घर से बाहर निकलते वक्त मास्क लगाएं और भीड़भाड़ से बचें। सामाजिक दूरी का पालन करें और एक-दूसरे के बीच दो गज की दूरी को बनाएं रखें। ऐसा करने से आप कोरोना की चपेट में आने से बचे रहेंगे और दूसरे लोग भी संक्रमित नहीं होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *