कोरोना के बूस्टर(दूसरा) डोज लगाने पर रहेगा जोरः मंगल पांडेय

• स्वास्थ्य मंत्री ने की स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक
• कोरोना जांच की रफ्तार को नहीं होने दी जाएगी धीमी
• जल्द तैयार होगा सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटलः
• बूस्टर डोज से वंचित लोगों को विशेष अभियान चलाकर कोरोना का दूसरा टीका लगाया जाएगा

भागलपुर, 5 अक्टूबर-

प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि पांच अक्टूबर तक जिले के 13 लाख 60 हजार 698 लोगों को कोरोना का पहला और 4 लाख 36 हजार 185 लोगों को दूसरा टीका लगाया जा चुका है। जिले के दो लाख दो हजार 293 लोग कोरोना के दूसरे टीके यानी बूस्टर डोज से वंचित हैं, उन्हें विशेष अभियान चलाकर कोरोना का दूसरा टीका लगाया जाएगा।
स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने मंगलवार को सर्किट हाउस में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक के बाद बातचीत करते हुए कहा कि अबतक कोरोना संक्रमण के मामले भले ही जिले में शून्य है। इसके बावजूद सिविल सर्जन को आदेश दिया गया है कि कोरोना जांच की रफ्तार किसी भी सूरत में धीमी नहीं होनी चाहिए। साथ ही जिले में नियमित टीकाकरण और संचारी रोग व गैरसंचारी रोगियों के इलाज पर फोकस करने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया कि जिले में चल रहे कैंसर डिटेक्शन सेंटर के लिए जल्द ही और डॉक्टर मिलेंगे। जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल (जेएलएनएमसीएच) में एक ऑक्सीजन प्लांट लग चुका है जबकि दो हजार क्षमता वाले दूसरे प्लांट के लिए क्रायोजेनिक इंजन जल्द ही आ रहा है। सदर अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट का ट्रायल हो चुका है, जबकि अनुमंडल अस्पताल नवगछिया और कहलगांव में ऑक्सीजन प्लांट के लिए ऑक्सीजन पाइपलाइन बिछ चुकी है।

जल्द तैयार होगा सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटलः
स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि कोरोना के कारण भागलपुर में बन रहे सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल की निर्माण की गति तेज की जाएगी। जल्द ही यह अस्पताल तैयार हो जाएगा, जहां पूर्वी बिहार के किडनी, ब्रेन और हार्ट के मरीजों का इलाज भागलपुर में शुरू हो जाएगा। मालूम हो कि जेएलएनएमसीएच में बिहार और झारखंड समेत 15 जिलों के मरीज इलाज के लिए आते हैं। कोसी-सीमांचल और पूर्वी बिहार से बड़ी संख्या में मरीज यहां पर इलाज के लिए आते हैं।

टर्शियरी कैंसर केयर सेंटर को लेकर भी होगा प्रयासः
जेएलएनएमसीएच में प्रस्तावित टर्शियरी कैंसर केयर सेंटर के सवाल पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि वह पटना पहुंचकर इसे लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से बात करेंगे और नक्शा बनाने और उसे पास कराने का प्रयास करेंगे। मालूम हो कि जेएलएनएमसीएच में टर्शियरी कैंसर केयर सेंटर बनना है। इसके बन जाने के बाद कैंसर के मरीजों को इलाज के लिए बाहर नहीं जाना पड़ेगा।
हड़ताली सफाईकर्मियों से बात करें अधीक्षक:
जेएलएनएमसीएच में चल रहे सफाईकर्मियों की हड़ताल की बाबत स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि उन्होंने अस्पताल अधीक्षक को आदेश दिया है कि वे हड़ताली सफाईकर्मी से बात कर उनकी समस्या का निदान कराएं। जेएलएनएमसीएच में कार्यरत निजी एजेंसी पर सफाईकर्मी के पीएफ की राशि गबन करने की बाबत मंत्री ने कहा कि अधीक्षक इसकी जांच करें। दोषी पाए जाने पर एजेंसी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *