कोरोना टीकाकरण महाअभियान:
पहले दिन सबसे पहले टीका लगवाने वाले स्वाथ्यकर्मियों ने टीका को बताया सुरक्षित

  • जिले के रामगढ़ चौक पीएचसी में कालाजार रोग के सुपरवाइजर रत्नेश चन्द्र पांडेय ने लगाया था सबसे पहले टीका
  • शनिवार को जिले के पांच सेशन साइट पर स्वास्थ्य कर्मियों को लगाया गया था कोरोना का टीका
  • 28 दिनों के बाद सभी स्वाथ्य कर्मी लगवाएंगे कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज

लखीसराय –

कोरोना टीकाकरण महाअभियान के पहले दिन शनिवार को जिले के पांच सत्र स्थल (सेशन साइट) पर सबसे पहले कोरोना का टीका लगवाने वाले स्वास्थ्य कर्मियों ने कोरोना वैक्सीन को पूरी तरह से सुरक्षित बताया है। टीका लगवाने के बाद उन्हें किसी तरह की कोई घबराहट और परेशानी महसूस नहीं हुई-
जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह द्वारा शनिवार को जिले के रामगढ़ चौक पीएचसी पर कोरोना टीकाकरण अभियान का शुभारंभ किया गया। यहां सबसे पहले कोरोना का टीका लगवाने वाले डॉ. कालाजार सुपरवाइजर रत्नेश चन्द्र पांडेय ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने वाला यह टीका पूरी तरह सुरक्षित है। टीका लगवाने के बाद उन्हें किसी तरह की कोई घबराहट और परेशानी महसूस नहीं हुई। उन्होंने बहुत ही अच्छा महसूस किया। अब 28 दिनों के बाद वो निश्चित तौर पर टीका का दूसरा डोज भी लेंगे। उन्होंने बताया कि वो वैक्सीन लगवाने को लेकर काफी उत्साहित थे ताकि अन्य लोगों को वो पूरे विश्वास के साथ कह सकें कि वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है| जिससे सभी लोग निर्भय होकर कोरोना का टीका लगवा सकें ।
पहले से चल रही अन्य सभी 12 वैक्सीन की तरह यह भी पूरी तरह से सुरक्षित है-
सदर हॉस्पिटल लखीसराय के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर विभीषण कुमार ने बताया कि वो जिले में सबसे पहले कोरोना का वैक्सीन लगवाने को ले काफी उत्साहित थे और उनका सपना पूरा भी हुआ। उन्होंने बताया कि भारत सरकार के तमाम मॉपदण्डों पर खरा उतरने के बाद ही कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिली है। यह वैक्सीन भी भारत में पहले से चल रही अन्य सभी 12 वैक्सीन की तरह पूरी तरह से सुरक्षित है। वैक्सीन लगवाने के बाद उन्हें किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं हुई । 28 दिनों के बाद वो वैक्सीन का दूसरा डोज भी लेंगे।
कोरोना का यह वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है-
लखीसराय पीएचसी के ब्लॉक हॉस्पिटल मैनेजर अनिल कुमार ने बताया कि स्वाथ्यकर्मियों सहित अन्य लोगों के मन में कोरोना वैक्सीन को ले पनप रही भ्रांति को दूर करने के लिए उन्होंने स्वयं सबसे पहले कोरोना की वैक्सीन लगवाने के फैसला किया| ताकि सभी लोगों को अपने अनुभव के आधार पर यह बता सकें कि कोरोना का यह वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है। इसको लेकर किसी भी प्रकार से भयभीत होने की आवश्यकता नही है।

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. अशोक कुमार भारती ने बताया कि कोरोना टीकाकरण अभियान के पहले चरण में सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना का टीका लगाया जा रहा है। भविष्य में जब ये स्वास्थ्य कर्मी अन्य लोगों को कोरोना का टीका लगायें तो अपने अनुभव के आधार पर यह बता सकें कि पहले उन्होंने कोरोना का टीका लगवाया है और उन्हें किसी भी तरह की परेशानी नहीं हुई। कोरोना वैक्सीन सभी लोगों के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है| इसीलिए सभी लोगों को किसी भी तरह की भ्रांति पर ध्यान नहीं देने चाहिए और कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए बिना किसी भय के वैक्सीन लगवानी चाहिए।

कोरोना टीकाकरण के बाद भी सभी लोग बरतें ये सावधानी :

  • सभी लोग घर से बाहर भीड़-भाड़ वाले स्थान पर जाने की स्थिति में अनिवार्य रूप से मास्क का इस्तेमाल करें या रुमाल या गमछे से मुहं और नाक को ढकें ताकि वायरस के संक्रमण को रोका जा सके।
  • भीड़-भाड़ वाले स्थान पर जाने पर सभी लोग शारीरिक दूरी के नियम के तहत कम से कम दो गज या छह फीट के दूरी के नियम का पालन करें ।
  • सभी लोग अपने हाथों को एक निश्चित अंतराल के बाद साबून या हैंड सैनिटाइजर से साफ करें ताकि हाथ साफ कर संक्रमण को दूर किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: